Connect with us
Tuesday,05-December-2023
ताज़ा खबर

राष्ट्रीय

1 करोड़ की जमीन के लिए अब 361 करोड़ रूपए चुकाएगा नोएडा प्राधिकरण

Published

on

नोएडा प्राधिकरण को सुप्रीम कोर्ट से एक बड़ा झटका लगा है। नोएडा प्राधिकरण अब 1 करोड़ रूपए की कीमत की जमीन के 361 करोड़ रुपए चुकाएगा और मुआवजा देने में देरी करने पर प्राधिकरण को रोजाना पांच लाख रुपए और देने होंगे। ऐसे में प्राधिकरण लीगल सेल में बातचीत कर रहा है। हालांकि इस सुप्रीम ऑर्डर से प्राधिकरण का बच पाना मुश्किल है। मामला 24 अप्रैल 1997 का है। बेंग्लूरू के रहने वाले रेड्डी विरेन्ना ने नोएडा के छलेरा बांगर (सेक्टर-18) में खसरा नंबर 422 और 427 में कुल 14,358 वर्गमीटर जमीन एक करोड़ रुपए में खरीदी थी। इसमें प्राधिकरण ने पहले ही काफी जमीन का अधिग्रहण कर लिया था। प्राधिकरण ने सिर्फ 7 हजार 400 वर्गमीटर जमीन रेड्डी के नाम की। पूरी जमीन न मिलने पर रेड्डी ने सिविल कोर्ट में केस दायर कर दिया। कोर्ट ने जमीन पर नजर बनाए रखने का आदेश दिया, लेकिन इसके बावजूद प्राधिकरण ने वाणिज्यिक भूखंड योजना निकालकर 54,320 वर्गमीटर जमीन बेच दी।

इसमें रेड्डी विरेन्ना की भी 7400 वर्गमीटर जमीन शामिल थी। यह पूरी जमीन प्राधिकरण ने डीएलएफ यूनिवर्सल लिमिटेड को 173 करोड़ रूपए में बेची। डीएलएफ ने यहां निर्माण शुरू करा दिया। अपनी जमीन में निर्माण होता देख रेड्डी ने हाईकोर्ट में नोएडा प्राधिकरण और डीएलफ को पार्टी बनाते हुए रिट फाइल की।

कोर्ट ने देखा कि जमीन में निर्माण पूरा हो चुका है। ऐसे में रेड्डी को जमीन नहीं दी जा सकती। इसलिए उसे मुआवजा देने का आदेश दिया। प्राधिकरण ने हाईकोर्ट के आदेश को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी। सुप्रीम कोर्ट ने 10 जनवरी 2011 को याचिका खारिज कर दी। इसके बाद प्राधिकरण ने कृषि भूमि प्रतिकर के हिसाब से 181.87 रुपए प्रति वर्ग गज प्लस ब्याज समेत 36 लाख का मुआवजा बनाया और रेड्डी को दे दिया।

28 अक्टूबर 2021 को हाईकोर्ट ने फैसला सुनाया था। 2019 में रेड्डी ने फिर से हाईकोर्ट में कॉमर्शियल दर से मुआवजे के लिए याचिका दायर की। जिस पर 22, 24 और 29 सितंबर और 6 अक्टूबर 2019 को सुनवाई हुई। कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया। 28 अक्टूबर 2021 को हाईकोर्ट ने फैसला सुनाया। इसके तहत 55 हजार प्रति वर्गमीटर ब्याज समेत कुल 175 करोड़ का मुआवजा तय किया।

प्राधिकरण ने इसके खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में एसएलपी दायर की और कहा कि एक करोड़ की जमीन का मुआवजा 175 करोड़ रुपए देना अनुचित है। 5 मई 2022 को सुप्रीम कोर्ट ने नोएडा प्राधिकरण को आदेश दिया कि रेड्डी को 1.10 लाख प्रति वर्ग मीटर, वैद्यानिक ब्याज, 3 प्रतिशत पैनल ब्याज पर मुआवजा दिया जाए।

कोर्ट ने इसके लिए प्राधिकरण को तीन महीने का समय दिया था। जिस पर प्राधिकरण ने रीव्यू पीटिशन डाली, जिसे 10 अगस्त को खारिज कर दिया गया। सोमवार को मामले से फिर से सुनवाई की गई। कोर्ट ने प्राधिकरण को ब्याज समेत पूरी रकम चुकाने का आदेश दिया है।

राष्ट्रीय

बाजार में तेजी से सेंसेक्स 67 हजार के पार

Published

on

By

नवंबर में निफ्टी में 6 फीसदी का उछाल आया। बाजार की ये गति फिलहाल बरकरार रहने की संभावना है। आने वाले आंकड़े और खबरें सकारात्मक हैं। जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के मुख्य निवेश रणनीतिकार वी.के. विजयकुमार ने ये बात कही है।

बीएसई सेंसेक्स शुक्रवार को 67,000 अंक के स्तर को पार करते हुए 457 अंक की छलांग के साथ 67,446 अंक पर कारोबार कर रहा है। एनटीपीसी में 4 फीसदी से ज्यादा की तेजी है।

वित्त वर्ष 2024 की दूसरी तिमाही में जीडीपी वृद्धि दर 7.6 फीसदी रही, जो उम्मीदों से कहीं अधिक है। विशेष रूप से, विनिर्माण में 13.9 प्रतिशत की वृद्धि और निर्माण में 13.3 प्रतिशत की वृद्धि प्रभावशाली है। उन्होंने कहा कि इसमें वित्त वर्ष 2024 की जीडीपी वृद्धि दर को 6.8 प्रतिशत से ऊपर पहुंचाने की क्षमता है, जो आरबीआई के 6.5 प्रतिशत के अनुमान से अधिक है।

एग्जिट पोल के नतीजे आम चुनाव के बाद राजनीतिक स्थिरता की प्रबल संभावना का संकेत दे रहे हैं। बाजार इसकी सराहना करेगा।

चूंकि विनिर्माण और निर्माण ने अच्छा प्रदर्शन किया है, इसलिए तेजी एलएंडटी जैसे पूंजीगत सामान शेयरों और निर्माण-संबंधित शेयरों में होगी। सीमेंट शेयरों में नए सिरे से खरीदारी की दिलचस्पी देखने को मिल सकती है। ऑटो का प्रदर्शन अच्छा बना रहेगा। उन्होंने कहा, निफ्टी रिकॉर्ड ऊंचाई पर जाने के लिए तैयार है।

Continue Reading

राष्ट्रीय

मुहूर्त ट्रेडिंग में सेंसेक्स 65 हजार के पार

Published

on

By

बीएसई सेंसेक्स ने संवत 2080 की शुरुआत सकारात्मक रुख के साथ की, रविवार को मुहूर्त ट्रेडिंग सत्र में सूचकांक 354 अंक चढ़कर 65,000 अंक के पार पहुंच गया।

एक घंटे के विशेष सत्र का अंत सेंसेक्स 355 अंक बढ़कर 65,259 अंक पर हुआ।

सेंसेक्स में 1.4 फीसदी की बढ़त इंफोसिस में हुई, इसके बाद विप्रो, एशियन पेंट्स, टीसीएस और एनटीपीसी का स्थान रहा।

बीएसई स्मॉल कैप इंडेक्स में 1.14 फीसदी की तेजी आई जबकि बीएसई आईपीओ इंडेक्स में 2 फीसदी से ज्यादा की तेजी रही।

मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज के ग्रुप एमडी और सीईओ मोतीलाल ओसवाल ने कहा कि मजबूत कमाई और स्वस्थ आर्थिक दृष्टिकोण के कारण हिंदू संवत 2080 की शुरुआत सकारात्मक रुख के साथ होने की संभावना है। आर्थिक प्रतिकूलताओं और वैश्विक भू-राजनीतिक चिंताओं के बावजूद, संवत 2079 निफ्टी में लगभग 10 प्रतिशत की बढ़त के साथ समाप्त हुआ।

उन्होंने कहा, “संवत 2080 में प्रवेश करते हुए हमारा मानना है कि भारत चमकता रहेगा और उम्मीद करता है कि बाजार अपना बेहतर प्रदर्शन बनाए रखेगा। हमारा मानना है कि अगले कुछ तिमाहियों में, समग्र बाजार में तेजी के साथ-साथ सेक्टर रोटेशन एक महत्वपूर्ण चालक होगा। हमें बीएफएसआई जैसे क्षेत्रों की उम्मीद है। विवेकाधीन उपभोग, निर्माण और रियल एस्टेट और उच्च विकास वाले आला क्षेत्र समग्र बाजार में तेजी लाएंगे।”

खंबाटा सिक्योरिटीज के निदेशक सुनील शाह ने कहा : “लगातार भू-राजनीतिक अनिश्चितताओं और अपेक्षाकृत उच्च घरेलू आर्थिक विकास के कारण भारतीय इक्विटी अन्य वैश्विक बाजारों से बेहतर प्रदर्शन करने की उम्मीद है। प्रमुख विषय घरेलू खपत और प्रीमियमीकरण होंगे, जिससे कंपनियां मजबूत आय दर्ज करने में सक्षम होंगी।”

उन्‍होंने कहा, “इंफ्रा और निर्माण कार्यों के अच्छा प्रदर्शन करने की उम्मीद है, क्योंकि बुनियादी ढांचे के विकास पर सरकार का जोर जारी रहेगा, जबकि ग्रामीण-केंद्रित योजनाओं में उच्च बजटीय आवंटन ग्रामीण खपत में सुधार लाने में मदद कर सकता है, खासकर आगामी बजट के साथ।”

“स्मॉल और मिड-कैप सेगमेंट में समृद्ध वैल्यूएशन के बावजूद बुनियादी तौर पर मजबूत कारोबार और अच्छी आय वृद्धि वाली कंपनियां अपने वैल्यूएशन को सही ठहरा रही हैं। अगर चालू वित्तवर्ष 24 की दूसरी छमाही तक अमेरिकी बॉन्ड की पैदावार कम होने लगती है, तो एफपीआई वापस आ जाएंगे। आगामी आम चुनाव से बाजार की चाल बढ़ सकती है। मुद्रास्फीति, ब्याज दर प्रक्षेपवक्र और भू-राजनीतिक तनाव प्रमुख जोखिम बने रहेंगे।”

Continue Reading

राष्ट्रीय

गिरावट पर खरीदारी की रणनीति से निवेशकों को फायदा

Published

on

By

वैश्विक चिंताओं से उबरने की क्षमता इस कठिन समय में शेयर बाजार में स्पष्ट रूप से दिख रही है। जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के मुख्य निवेश रणनीतिकार वी.के. विजयकुमार ने ये बात कही है।

जोखिम लेने वाले निवेशकों के लिए गिरावट पर खरीदारी की रणनीति ने अच्छा काम किया है। उन्होंने कहा कि इजराइल-हमास संघर्ष को लेकर अनिश्चितता के बावजूद बाजार की संरचना निवेशकों के लिए अनुकूल है।

अमेरिका में 10 साल की बॉन्ड यील्ड में अक्टूबर के 5 फीसदी के उच्चतम स्तर से अब 4.58 फीसदी की तेज गिरावट बाजार के लिए सबसे मजबूत संकेतक है। डॉलर इंडेक्स में 105.2 तक की गिरावट, ब्रेंट क्रूड का 85 डॉलर पर आना और सोने में 1988 डॉलर तक की गिरावट बाजार में जोखिम के संकेत हैं। उन्होंने कहा, एफआईआई की रणनीति काम नहीं आई और उनके जल्द ही खरीदार बनने की संभावना है।

भले ही स्मॉल-कैप सूचकांक मजबूत दिखा रहा है, वैलुएशन और सुरक्षा लार्ज-कैप में है। वित्तीय और ऑटोमोबाइल मजबूत स्थिति में हैं। उन्होंने कहा कि आईटी के लिए गति मिडकैप में है।

प्रभुदास लीलाधर की वाइस प्रेसिडेंट (तकनीकी अनुसंधान) वैशाली पारेख ने कहा कि पिछले हफ्ते निफ्टी में अच्छी तेजी आई है और यह 0.38 प्रतिशत रिट्रेसमेंट से ऊपर अच्छा उछाल देकर 19,220 के स्तर से ऊपर बंद हुआ है।

सोमवार को बीएसई सेंसेक्स 303 अंक ऊपर 64,667 अंक पर है। एक्सिस बैंक में 2 फीसदी से ज्यादा की तेजी है।

Continue Reading
Advertisement
राष्ट्रीय समाचार13 hours ago

सीएम के प्रवेश करते ही भाजपा विधायकों ने बंगाल विधानसभा से किया वॉकआउट

राजनीति15 hours ago

दिल्ली हाई कोर्ट ने सरकारी योजनाओं के प्रचार के लिए अधिकारियों के इस्तेमाल पर केंद्र से मांगा जवाब

खेल16 hours ago

अमेजन प्राइम वीडियो ने हासिल किए आईसीसी मीडिया अधिकार

राजनीति16 hours ago

निलंबन रद्द होने के बाद राघव चड्ढा ने सुप्रीम कोर्ट, राज्य सभा सभापति को दिया धन्यवाद

राष्ट्रीय समाचार17 hours ago

चक्रवात मिचौंग नवीनतम: मूसलाधार बारिश के बीच 33 उड़ानें चेन्नई से बेंगलुरु के केम्पेगौड़ा अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के लिए डायवर्ट की गईं

राष्ट्रीय समाचार18 hours ago

विधानसभा चुनावों में बीजेपी की जीत के बाद पीएसयू शेयर नई ऊंचाई पर

राजनीति18 hours ago

पंच प्रण ही विकसित भारत की राह : सीएम योगी

राजनीति19 hours ago

मिजोरम चुनाव परिणाम 2023: जेडपीएम ने पलटवार किया, एमएनएफ के डिप्टी सीएम तावंलुइया को हराया

महाराष्ट्र20 hours ago

गिरगांव में आग से जले घर में 80 वर्षीय मां को छोड़ने से आदमी ने किया इनकार; दोनों जलकर मर गये

व्यापार3 days ago

भारत में सोने की कीमतें अब तक के सबसे ऊंचे स्तर पर पहुंची

राष्ट्रीय3 weeks ago

मुहूर्त ट्रेडिंग में सेंसेक्स 65 हजार के पार

अपराध5 days ago

साउथ मुंबई का मशहूर बिल्डर दिलावर खान फरार. ठाणे पुलिस कर रही है तलाश

फिल्मी खबरे4 weeks ago

कार्तिक आर्यन से ब्रेकअप पर पहली बार बोलीं सारा अली खान, कहा- यह हमेशा आसान नहीं होता

महाराष्ट्र2 weeks ago

लोअर परेल में अधूरे डेलिसल रोड ब्रिज का अवैध रूप से उद्घाटन करने के लिए बीएमसी ने आदित्य ठाकरे के खिलाफ मामला दर्ज किया

राजनीति2 weeks ago

कांग्रेस में शामिल होने के एक दिन बाद, अभिनेत्री विजयशांति बनीं तेलंगाना चुनाव समन्वयक

राजनीति3 weeks ago

पीएम मोदी पर टिप्पणी को लेकर चुनाव आयोग ने प्रियंका गांधी को भेजा नोटिस

राजनीति2 weeks ago

राजस्‍थान चुनाव : बीजेपी व पीएम ने कांग्रेस की गारंटी की नकल करने का किया असफल प्रयास : खड़गे

राष्ट्रीय समाचार3 weeks ago

दिल्ली में पटाखे बनाने के दौरान हुआ विस्फोट, युवक की मौत

राजनीति4 weeks ago

अमित शाह ने देहरादून में आईटीबीपी के स्थापना दिवस कार्यक्रम में की शिरकत

मौसम3 weeks ago

दिल्ली का वायु प्रदूषण अब भी ‘गंभीर’

रुझान