Connect with us
Thursday,18-August-2022

राजनीति

मायावती का भाजपा, सपा, कांग्रेस पर निशाना, बोलीं, ‘सत्ता में आने पर भूल जाते हैं वादे’

Published

on

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) मुखिया मायावती 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर काफी सक्रिय हैं। इसीलिए वह ट्वीटर के माध्यम से समय-समय पर सत्तारूढ़ दल भाजपा और विपक्षी दल सपा, कांग्रेस पर निशाना साधती रहती हैं। उन्होंने कहा कि यह दल जो वादा करते हैं सत्ता आने पर भूल जाते हैं। ऐसे में इनसे सर्तक रहने की जरूरत है।

उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने शुक्रवार को दो ट्वीट में भाजपा, सपा तथा कांग्रेस पर निशाना साधा है। मायावती ने कहा, “यूपी में खासकर भाजपा, सपा, कांग्रेस आदि के द्वारा प्रदेश की जनता को लुभाने व गुमराह करने के लिए आए दिन प्रलोभन भरे जो चुनावी वादों की झड़ी लगाई जा रही है, जिनको सत्ता में आने के बाद भुला दिया जाता है। अभी तक का इनका यही इतिहास रहा है। जनता इनसे सतर्क रहे।”

उन्होंने आगे कहा कि भाजपा व सपा जो वादे कर रहे हैं वे काम उन्होंने यहां अपनी सरकार के रहते हुए क्यों नहीं किए? कांग्रेस पार्टी भी महिलाओं को 40 प्रतिशत टिकट व स्कूटी आदि देने के जो वादे कर रही है वे काम इन्होंने उन राज्यों में क्यों नहीं किए जहां इनकी सरकारें हैं? यह भी सोचने की बात है।

इससे पहले उन्होंने कहा था कि यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य द्वारा दिया गया बयान कि अयोध्या व काशी में मन्दिर निर्माण जारी है अब मथुरा की तैयारी है, यह भाजपा के हार की आम धारणा को पुख्ता करता है।

Continue Reading

महाराष्ट्र

दही-हांडी राजनीति : आदित्य ठाकरे के गढ़ में बीजेपी ने शिवसेना पर साधा निशाना

Published

on

By

भारतीय जनता पार्टी शुक्रवार को वर्ली के जंबोरी मैदान में दही-हांडी समारोह आयोजित करेगी, जहां शिवसेना का गढ़ है और युवा सेना प्रमुख आदित्य ठाकरे का विधानसभा क्षेत्र भी है। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के पूर्व नेता सचिन अहीर, जो 2019 में शिवसेना में शामिल हुए थे, नियमित रूप से जंबोरी मैदान में दही-हांडी का आयोजन करते थे, जिसे मुंबई में त्योहार के दौरान सबसे बड़े आयोजनों में स्थान दिया गया था।

मुंबई भाजपा अध्यक्ष आशीष शेलार ने गुरुवार को शिवसेना पर कटाक्ष करते हुए कहा, “सांसद, विधायक, पूर्व मंत्री, पूर्व महापौर और कई नगर निगम पार्षद होने के बावजूद, पार्टी 100 रुपये के टिकट पर ‘वफादारी हलफनामा’ प्राप्त करने के लिए संघर्ष कर रही है।”

वे हमारे बल पर चुने गए और फिर इसे अपना ‘गढ़’ बना लिया। ‘भगवा’ को धोखा देने वाले एक-दूसरे से अलग हो रहे हैं।

अहीर ने पलटवार करते हुए कहा कि अगर वे (शेलार और भाजपा) वर्ली के प्रति इतने जुनूनी हैं, तो उन्हें निर्वाचन क्षेत्र बदल देना चाहिए और वर्ली से चुनाव लड़ना चाहिए और यहां के लोग उन्हें चुनाव में अपना स्तर दिखाएंगे।

आदित्य ठाकरे ने कहा कि वर्ली अचानक भाजपा का प्रिय बन गया है और समारोह आयोजित करने के लिए उनका स्वागत है, लेकिन निर्वाचन क्षेत्र के लोग ‘देशद्रोहियों’ को जानते हैं और जल्द ही उन्हें सबक सिखाएंगे।

अहिरा के एनजीओ संकल्प प्रतिष्ठान ने 2015 में जंबोरी मैदान में दही-हांडी का आयोजन बंद करने के बाद 2019 में शिवसेना विधायक सुनील शिंदे ने पदभार संभाला, लेकिन इस साल भाजपा यह आयोजन करेगी।

Continue Reading

महाराष्ट्र

दही-हांडी के बीच महाराष्ट्र सरकार का बड़ा ऐलान, गोविंदा की मौत पर 10 लाख, जख्मी को 5 लाख मुआवजा

Published

on

Dahi-Handi

जन्माष्टमी के मौके पर दही हांडी उत्सव को लेकर महाराष्ट्र सरकार ने बड़ा ऐलान किया है। दही-हांडी के दौरान अगर किसी गोविंदा की मौत होती है तो पीड़ित परिवार को 10 लाख रुपये का मुआवजा दिया जाएगा। वहीं उत्सव के दौरान गोविंदाओं के घायल होने पर 5 लाख रुपये की आर्थिक मदद दी जाएगी। इसके अलावा गोविंदा पथकों के लिए ग्रुप बीमा भी निकाला गया है। उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने महाराष्ट्र विधानसभा में इसे लेकर ऐलान किया। गौरतलब है कि हर साल जन्माष्टमी पर दही-हांडी के दौरान गोविंदाओं के साथ हादसे की खबर आती है। महाराष्ट्र विधानसभा में देवेंद्र फडणवीस ने कहा, ‘दही-हांडी के दौरान अगर किसी गोविंदा की मौत होती है तो पीड़ित परिवार को 10 लाख रुपए का मुआवजा दिया जाएगा। अगर कोई गोविंदा गंभीर रूप से जख्मी होता है तो उसे 5 लाख रुपए की आर्थिक मदद मिलेगी। इसके अलावा गोविंदा पथकों के लिए ग्रुप बीमा निकाला गया है।’

महाराष्ट्र के प्रमुख त्योहारों में से एक दही हांडी को लेकर इस बार काफी उत्साह है। दरअसल कोरोना के चलते 2 साल तक इसका आयोजन नहीं हुआ था। महाराष्ट्र में दही-हांडी के दौरान मटकी फोड़ने वाली टीम को लाखों का इनाम दिया जाता है। दही-हांडी का यह उत्सव जन्माष्टमी के दूसरे दिन मनाया जाता है। इस दिन एक ऊंचे से तार पर एक हांडी मक्खन से भरकर ऊंचाई पर टांग दी जाती है. जिसके बाद गोविंदाओं की टोली एक श्रृंखला बनाकर उस हांडी को तोड़ने का प्रयास करती है।

Continue Reading

अपराध

दिल्ली हाई कोर्ट ने शाहनवाज हुसैन पर केस दर्ज करने का दिया आदेश

Published

on

Shahnawaz-Hussain

 दिल्ली हाई कोर्ट ने दिल्ली पुलिस को 2018 में हुए एक कथित बलात्कार के मामले में भाजपा नेता शाहनवाज हुसैन के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया है। हुसैन ने एक स्थानीय अदालत के फैसले को हाई कोर्ट में चुनौती दी थी।

मौजूदा मामले में, पुलिस प्राथमिकी दर्ज नहीं करना चाहती है। प्राथमिकी के अभाव में पुलिस केवल प्रारंभिक जांच ही कर सकती है, न्यायमूर्ति आशा मेनन ने बुधवार को पारित आदेश में कहा।

कोर्ट ने कहा, .. शिकायत आयुक्त के कार्यालय से थाने में प्राप्त हुई थी, लेकिन स्पष्ट रूप से, जब तक कि ट्रायल कोर्ट द्वारा निर्देश जारी नहीं किया गया, कोई जांच नहीं की गई।

इसने आगे कहा, ..शिकायतकर्ता (महिला) 16 जून, 2018 को थाने में शिकायत दर्ज कराने गई थी, लेकिन चूंकि उसे घटना की जगह की जानकारी नहीं थी, इसलिए उसने कहा कि वह पुलिस स्टेशन आएगी। इस प्रकार, कुछ जानकारी वास्तव में थाना प्रभारी महरौली को दी गई, जिसके बारे में तथाकथित ‘जवाब’ पूरी तरह से चुप है।

निचली अदालत के आदेश को बरकरार रखते हुए हाई कोर्ट ने कहा कि प्राथमिकी दर्ज करने के पूर्व के आदेश में कोई गड़बड़ी नहीं है।

विशेष न्यायाधीश के फैसले में भी कोई त्रुटि नहीं है कि जांच रिपोर्ट प्रारंभिक प्रकृति की है, इसे रद्द नहीं माना जा सकता है। प्राथमिकी दर्ज करने और पूरी जांच करने के बाद पुलिस को एक रिपोर्ट प्रस्तुत करनी होगी, अदालत ने कहा।

कोर्ट ने कहा कि हुसैन की याचिका में कोई मेरिट नहीं है और याचिका खारिज कर दी। अदालत ने आदेश में कहा, अंतरिम आदेश रद्द हो जाते हैं। प्राथमिकी तुरंत दर्ज की जाए। जांच पूरी की जाए और धारा 173 सीआरपीसी के तहत एक विस्तृत रिपोर्ट तीन महीने के भीतर प्रस्तुत की जाए।

शिकायतकर्ता महिला के अनुसार, दिल्ली निवासी हुसैन ने 12 अप्रैल, 2018 को अपने छतरपुर फार्महाउस में उसके साथ बलात्कार किया। वह उसके खिलाफ प्राथमिकी की मांग के लिए अदालत का दरवाजा खटखटा रही थी।

पूर्व मंत्री हुसैन ने महिला के आरोपों का खंडन करते हुए कहा था कि उसका उसके भाई के साथ विवाद था और उसे अनावश्यक रूप से मामले में घसीटा गया।

हुसैन अब इस आदेश के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का रूख कर रहे हैं।

Continue Reading
Advertisement
Army
सामान्य5 hours ago

महाराष्ट्र में 22 नवंबर से 11 दिसंबर तक अग्निपथ भर्ती रैली

Raigad-ATS
अपराध5 hours ago

रायगढ़ में मिली संदिग्ध स्पीडबोट, एटीएस करेगी जांच

महाराष्ट्र6 hours ago

दही-हांडी राजनीति : आदित्य ठाकरे के गढ़ में बीजेपी ने शिवसेना पर साधा निशाना

Latamangeshkar-chok
मनोरंजन7 hours ago

संतों ने अयोध्या में लता मंगेशकर चौक बनने का किया विरोध

Dahi-Handi
महाराष्ट्र7 hours ago

दही-हांडी के बीच महाराष्ट्र सरकार का बड़ा ऐलान, गोविंदा की मौत पर 10 लाख, जख्मी को 5 लाख मुआवजा

Shahnawaz-Hussain
अपराध8 hours ago

दिल्ली हाई कोर्ट ने शाहनवाज हुसैन पर केस दर्ज करने का दिया आदेश

सामान्य8 hours ago

भारत में 12,608 नए कोविड-19 के मामले, 72 मौतें

Shivna-Sarkar
महाराष्ट्र9 hours ago

शिवसेना सांसद ने पीएम मोदी से नेताजी के अवशेष भारत लाने की अपील की

अनन्य1 day ago

केजरीवाल ने शुरू किया ‘मेक इंडिया नंबर 1’ मिशन

House-of-the-dragone
मनोरंजन1 day ago

फंतासी ड्रामा सीरीज ‘हाउस ऑफ द ड्रैगन’ को बी-टाउन सेलेब्स से मिला प्यार

Darul-Faiz
अपराध5 days ago

बिल्डर पे लापरवाही का आरोप, सात दिनों के अंदर बिल्डिंग खाली करने का आदेश, दारुल फैज बिल्डिंग के टेंट आ सकते हैं सड़कों पे

uddhav
महाराष्ट्र3 weeks ago

उद्धव खेमा सुप्रीम कोर्ट पहुंचा, शिंदे खेमे की अर्जी पर चुनाव आयोग की कार्यवाही पर रोक की मांग

अपराध3 weeks ago

100 करोड़ रुपये में राज्यसभा सीट का झांसा देने के आरोप में 4 गिरफ्तार, अदालत ने दी जमानत

Sanjay Raut
अपराध2 weeks ago

4 अगस्‍त तक ED की कस्‍टडी में रहेंगे संजय राउत

CM-Dhami
राजनीति3 weeks ago

सीएम धामी ने नितिन गडकरी से की मुलाकात, विकास कार्यों पर हुई चर्चा

Tarun-Chugh
राजनीति3 weeks ago

श्रीनगर को 2 परिवारों ने बना दिया था आतंकवाद की राजधानी: तरुण चुघ

ED
अपराध2 weeks ago

ईडी ने केरल में विदेशी धन हासिल करने वाले व्यक्ति को हिरासत में लिया

महाराष्ट्र2 weeks ago

गिरफ्तार शिवसेना नेता संजय राउत की कोर्ट में पेशी होगी

Beautystion
अपराध2 weeks ago

हैदराबाद में कार हादसे में ब्यूटीशियन की मौत

high-court-mumbai
अपराध3 weeks ago

बॉम्बे हाईकोर्ट का फैसला, मुंबई एयरपोर्ट के पास बनी 48 ऊंची इमारतें 18 अगस्‍त तक होंगी ध्‍वस्‍त

रुझान