Connect with us
Friday,03-December-2021
ताज़ा खबर

राजनीति

येदियुरप्पा के करीबी पर आईटी की छापेमारी में 750 करोड़ रुपये बरामद

Published

on

बेंगलुरु और अन्य जगहों पर इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की हालिया छापेमारी पूर्व मुख्यमंत्री बी.एस. येदियुरप्पा के करीबी सहयोगी बी.आर. उमेश व अन्य भाजपा के दिग्गज नेता के लिए झटका हैं। पार्टी सूत्रों ने इसकी जानकारी दी। तलाशी व जब्ती के दौरान करीब 750 करोड़ रुपये की अघोषित आय मिली है। इसमें से 487 करोड़ रुपये की राशि को संबंधित समूह की संस्थाओं ने अपनी अघोषित आय के रूप में स्वीकार किया है। 7 अक्टूबर को शुरू हुई तलाशी 4 राज्यों में फैले 47 परिसरों में की गई है।

पूर्व मुख्यमंत्री एच.डी. कुमारस्वामी ने गंभीर आरोप लगाए हैं कि येदियुरप्पा के करीबी सहयोगियों पर केवल उन्हें ‘चेकमेट’ देने और उन्हें वश में करने के इरादे से आईटी छापे मारे गए हैं।

उन्होंने आरोप लगाया, “येदियुरप्पा और विपक्ष के नेता सिद्धारमैया ने कर्नाटक में बीजेपी को कमजोर करने की योजना बनाने के लिए मैसूर में मुलाकात की। कम सामान्य ज्ञान वाला कोई भी व्यक्ति समझ सकता है कि येदियुरप्पा और उनके बेटे विजयेंद्र के करीबी सहयोगियों को आईटी विभाग ने क्यों निशाना बनाया है। यह भाजपा द्वारा येदियुरप्पा पर ब्रेक लगाने के लिएइरादे से किया जा रहा है।”

उन्होंने कहा, “मुझे यह कहने में कोई झिझक नहीं है। बीजेपी येदियुरप्पा को नियंत्रित करना चाहती है।” हालांकि, छापेमारी के निष्कर्षों ने घटनाओं को एक गंभीर मोड़ दिया है क्योंकि अब इस गड़बड़ी की गहन जांच किए जाने की उम्मीद है।

तलाशी के दौरान 4.69 करोड़ रुपये की बेहिसाब नकदी, 8.67 करोड़ रुपये के बेहिसाब आभूषण, सर्रार्फा और 29.83 लाख रुपये मूल्य की चांदी की वस्तुएं जब्त की गई हैं।

आयकर विभाग ने बेंगलुरु के बाहर स्थित तीन प्रमुख ठेकेदारों के मामले में तलाशी और जब्ती अभियान चलाया, येदियुरप्पा के सहयोगी उमेश 7 अक्टूबर से तीन दिन के लिए बीआर सहित सिंचाई और राजमार्ग परियोजनाओं के निष्पादन में लगे हुए हैं।

सूत्रों ने बताया कि येदियुरप्पा तक पहुंचने की पूरी संभावनाएं हैं क्योंकि छापे जल संसाधन मंत्रालय के तहत सिंचाई विभाग की परियोजनाओं पर केंद्रित थे, जिसमें 20,000 करोड़ रुपये से अधिक की विभिन्न परियोजनाओं के कार्यान्वयन शामिल थे।

आईटी विभाग ने आगे दावा किया कि समूहों में से एक ने 382 करोड़ रुपये के श्रम खर्च को बढ़ाने में लिप्त होने की बात स्वीकार की है। इसके अलावा, एक अन्य समूह ने गैर-मौजूदा पेपर कंपनियों से 105 करोड़ रुपये की आवास प्रविष्टियां ली हैं, जिन्हें इस समूह द्वारा स्वीकार किया गया है।

सूत्रों के अनुसार, इन भारी हेराफेरी की भविष्य में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा जांच की जाएगी। सूत्रों ने कहा कि येदियुरप्पा, जिन्होंने मुख्यमंत्री पद से हटने के बाद खुद को मुखर करना शुरू कर दिया है, उनके पास अब पार्टी के फरमान के मुताबिक चलने के अलावा और कोई रास्ता नहीं होगा।

येदियुरप्पा, शीर्ष पद से हटने के लिए कहे जाने के बावजूद, एक जन नेता बने हुए हैं और भाजपा विधायकों पर उनकी अच्छी पकड़ है।

येदियुरप्पा अगले विधानसभा चुनावों में कर्नाटक में भाजपा पार्टी के प्रॉस्पेक्टस को नुकसान पहुंचाने की पूरी क्षमता रखते हैं। चूंकि भाजपा आलाकमान चाहता है कि उनका समर्थन सत्ता में वापस आए, लेकिन साथ ही वह उनकी छाया में नहीं रहना चाहते। सूत्रों का कहना है कि आईटी छापों के साथ, पार्टी इन लक्ष्यों को प्राप्त करना चाहती थी और आईटी छापों के निष्कर्षों ने पार्टी का काम आसान कर दिया।

इस बीच, आईटी अधिकारियों ने ‘डिजाइन बॉक्स’ कंपनी के कार्यालय और एक होटल के कमरे पर छापेमारी की है, जहां कंपनी के मालिक नरेश अरोड़ा रहते हैं। कंपनी बेंगलुरु में शक्तिशाली राजनेताओं के सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का प्रबंधन करती है और राजनेताओं की ब्रांडिंग भी करती है। छापेमारी मंगलवार की आधी रात तक जारी रही। पहले कहा जाता था कि कंपनी का मालिकाना हक कांग्रेस अध्यक्ष डी.के. शिवकुमार के पास है। हालांकि शिवकुमार ने इससे इनकार किया है।

Continue Reading

महाराष्ट्र

सीपीआई(एम) ने कोबाड गांधी को पार्टी से निकाला

Published

on

 भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) के केंद्रीय नेतृत्व ने पार्टी से अलग विचारधारा अपनाने के लिए अपने शीर्ष कैडर कोबाड गांधी को पार्टी से निकाल दिया है। 74 वर्षीय गांधी ने माओवादी गतिविधियों में लगभग चार दशक बिताए हैं, जिसमें छह माओवादी प्रभावित राज्यों में 10 साल की जेल भी शामिल है। सीपीआई(एम) ने एक बयान में कहा कि उसने गांधी की किताब ‘द फ्रैक्च र्ड फ्रीडम’ के बाद उनके खिलाफ कार्रवाई की, जिसमें उन्होंने सरकार को अपना समर्थन व्यक्त किया।

उनकी किताब एक जेल संस्मरण है जो कार्ल मार्क्‍स, लेनिन और माओ की विचारधाराओं के खिलाफ है।

अक्टूबर 2019 में जेल से बाहर आने के बाद किताब प्रकाशित हुई थी। किताब का पहला संस्करण इस साल मार्च में प्रकाशित हुआ था। सीपीआई(एम) ने अपने बयान में गांधी पर मार्क्‍सवाद के द्वंद्वात्मक और ऐतिहासिक भौतिकवाद सिद्धांतों को छोड़ने का आरोप लगाया। कोबाड पर जेल से रिहा होने के बाद पार्टी नेतृत्व से संपर्क नहीं करने का भी आरोप लगाया गया था।

Continue Reading

महाराष्ट्र

एनसीपी कार्यसमिति की बैठक सात दिसंबर को दिल्ली में होगी

Published

on

 राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) की कार्यसमिति की बैठक सात दिसंबर को दिल्ली में होगी। एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार की अध्यक्षता में ये बैठक बुलाई गई है। पांच राज्यों के चुनाव से ठीक पहले पार्टी की अहम बैठक शरद पवार के आवास पर आयोजित की जाएगी। एनसीपी ने पार्टी के सभी कार्य समिति के सदस्यों को इस बैठक में मौजूद रहने के लिए कहा है। संसद सत्र के दौरान इस बैठक में पार्टी नेताओं की ओर से शीतकालीन सत्र में उठाये जा रहे मुद्दों को लेकर भी चर्चा की जाएगी। पार्टी प्रमुख शरद पवार अन्य दलों के नेताओं से मुलाकात करते हैं। इसलिए तमाम मुद्दों पर बैठक में रणनीति बनाई जाएगी।

पार्टी की ये बैठक इसलिए भी बेहद अहम मानी जा रही है कि पार्टी अध्यक्ष शरद पवार ने बुधवार को ही तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष ममता बनर्जी से महाराष्ट्र के मुंबई में मुलाकात की थी।

मुलाकात के बाद पवार ने संवाददाताओं से कहा था, बीजेपी का विरोध करने वालों का साथ आने को लेकर स्वागत है। किसी को बाहर करने का सवाल ही नहीं है। हमने मौजूदा स्थिति और सभी समान विचारधारा वाले दलों को साथ आने और भाजपा का एक मजबूत विकल्प प्रदान करने की आवश्यकता पर चर्चा की है। इस समय नेतृत्व कोई मुद्दा नहीं है। हमें एकजुट होकर बीजेपी के खिलाफ काम करने की जरूरत है।

गौरतलब है कि महाराष्ट्र में शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के गठबंधन की सरकार है। ऐसे में टीएमसी से नजदीकी कांग्रेस के लिए मुश्किल खड़ी कर सकती है। खासतौर पर ऐसे समय में जब टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी और पार्टी के राजनीतिक सलाहकार प्रशांत किशोर लगातार कांग्रेस पार्टी पर निशाना साध रहे हैं। साथ ही पार्टी का विस्तार करने के लिए लगातार टीएमसी में कांग्रेस के नेताओं को शामिल कराया जा रहा है।

Continue Reading

राजनीति

10 सालों में 90 फीसदी चुनाव हारने वाली कांग्रेस, विपक्ष का नेतृत्व कैसे कर सकती है : प्रशांत किशोर

Published

on

मशहूर चुनावी रणनीतिकार और कैंपेन मैनेजर प्रशांत किशोर ने एक बार फिर से कांग्रेस पार्टी पर चुनावी हार के लिए निशाना साधा है।

गौरतलब है कि पिछले कुछ समय से प्रशांत किशोर लगातार कांग्रेस पार्टी पर, एक के बाद एक विरोधी बयानबाजी कर रहे हैं। गुरुवार को एक बार फिर प्रशांत किशोर ने कहा कि जो पार्टी पिछले 10 सालों में 90 फीसदी चुनाव हार चुकी है वह विपक्ष का नेतृत्व कैसे कर सकती है, क्या पार्टी में किसी एक व्यक्ति (राहुल गांधी) का कोई दैवीय अधिकार है?

प्रशांत किशोर ने ट्वीट कर कहा, ”कांग्रेस जिस विचार और स्थान (विशेष वर्ग) का प्रतिनिधित्व करती है, वो एक मजबूत विपक्ष के लिए बेहद अहम है। लेकिन इसके लिये कांग्रेस नेतृत्व को व्यक्तिगत तौर पर कोई दैवीय अधिकार नहीं है, वो भी तब जब पार्टी पिछले 10 सालों में 90 फीसदी चुनावों में हार चुकी है। विपक्ष के नेतृत्व का फैसला लोकतांत्रिक तरीके से होना चाहिए..”

उल्लेखनीय है कि इन दिनों प्रशांत किशोर पश्चिम बंगाल की पार्टी तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के लिए चुनावी रणनीतिकार का काम संभाल रहे हैं। पश्चिम बंगाल में जीत हासिल करने के बाद तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी सभी विपक्षी दलों को एकजुट करने और नेतृत्व करने का दावा कर रही हैं। सिलसिलेवार तरीके से कांग्रेस पार्टी के नेता टीएमसी में शामिल हो रहे हैं। ममता बनर्जी अपनी राष्ट्रीय छवि मजबूत करना चाहती हैं। जिसको लेकर उन्होंने दिल्ली और महाराष्ट्र में विपक्षी दलों के कई वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात की।

ममता बनर्जी की चुनावी रणनीति और पार्टी के प्रचार की कमान इन दिनों प्रशांत किशोर संभाले हुए हैं जिसके बाद से लगातार प्रशांत किशोर कांग्रेस पर हमलावर हैं। हाल ही में कांग्रेस के 10 विधायकों ने टीएमसी का दामन थाम लिया, जिसके बाद मेघालय में कांग्रेस की बजाय टीएमसी विपक्षी दल बन गई।

प्रशांत किशोर इन दिनों टीएमसी की राष्ट्रीय छवि मजबूत करने पर जुटे हुए हैं, इसलिए कुछ जानकार मानते हैं कि कांग्रेस पार्टी को अप्रासंगिक बनाने के लिए प्रशांत किशोर खास तौर पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और कांग्रेस पार्टी पर इस तरीके की टीका टिप्पणी कर रहे हैं।

हाल ही में प्रशांत किशोर की इन बयानबाजियों को लेकर कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने उन पर निशाना साधते हुए कहा था कि प्रशांत किशोर को दूसरों को भाषण देने से पहले खुद तय कर लेना चाहिए कि वह क्या हैं। कंसल्टेंट अपने आप को जितना महत्वपूर्ण मानते हैं, अगर मैं और आप भी उनको इतना महत्वपूर्ण मानने लग गए जाएंगे तो फिर देश को कंसल्टेंट ही चलाएंगे। कंसल्टेंट की कोई विचारधारा नहीं होती। आप कंसल्टेंट हैं, टेक्नीशियन हैं, रणनीतिकार हैं कभी टेबल के इस तरफ, कभी उस तरफ।

उल्लेखनीय है कि बुधवार को ही टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने महाराष्ट्र के मुंबई में राष्ट्रवादी कांग्रेस (एनसीपी) प्रमुख शरद पवार से मुलाकात की थी। इस मुलाकात के बाद दोनों नेताओं ने पत्रकारों को इसकी जानकारी दी। इस दौरान ममता बनर्जी ने कहा था कि अब कोई यूपीए नहीं है। यूपीए कांग्रेस की अगुवाई वाला गठबंधन था, जिसमें कई दल शामिल थे।

Continue Reading
Advertisement
राष्ट्रीय14 hours ago

टाटा स्टील ने 14 ट्रांसजेडर्स को नौकरी दी, कंपनी के वेस्ट बोकारो डिवीजन में हुई तैनाती

बॉलीवुड15 hours ago

अथिया शेट्टी, के एल राहुल ने रेड कार्पेट पर उतरकर जीता फैंस का दिल

अंतरराष्ट्रीय15 hours ago

भारत बनाम न्यूजीलैंड का दूसरा टेस्ट: बारिश के खतरे के बीच मैच की रणनीति बनाने को लेकर असमंजस में हैं दोनों टीमें

अंतरराष्ट्रीय15 hours ago

सीएसए ने कोविड के कारण डिवीजन 2 के चार दिवसीय मैच स्थगित किए

अपराध15 hours ago

महाराष्ट्र सरकार ने मुंबई के पूर्व डीजीपी परमबीर सिंह को निलंबित किया

अपराध16 hours ago

ओमिक्रॉन की भारत में दस्तक, कर्नाटक में दो मामलों का पता चला

महाराष्ट्र16 hours ago

सीपीआई(एम) ने कोबाड गांधी को पार्टी से निकाला

महाराष्ट्र16 hours ago

एनसीपी कार्यसमिति की बैठक सात दिसंबर को दिल्ली में होगी

सामान्य18 hours ago

दिल्ली में प्रदूषण के कारण अगले आदेश तक सभी स्कूल बंद: गोपाल राय

अंतरराष्ट्रीय18 hours ago

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज हैरिस ने एशेज के लिए बाएं हाथ के गेंदबाज स्टार्क का समर्थन किया

राजनीति3 weeks ago

मरने के बाद मुझे दफनाया नहीं जाए, मेरा हो दाह-संस्कार : वसीम रिजवी

सामान्य4 weeks ago

त्रिपुरा में मुस्लिम विरोधी हिंसा को लेकर रज़ा अकादमी ने किया मुंबई बंद का ऐलान

source photo india tv
अपराध3 weeks ago

मालेगांव बंद के दौरान हिंसा की खबर, पुलिस ने किया बल का प्रयोग

राजनीति2 weeks ago

पीएम मोदी का बड़ा ऐलान- तीनों कृषि कानून वापस लेगी केंद्र सरकार

महाराष्ट्र2 weeks ago

एनसीपी नेता नवाब मलिक ने समीर वानखेड़े को लेकर पेश किया और सबूत, कहा स्कूल के लीविंग सर्टिफिकेट में धर्म है मुस्लिम

महाराष्ट्र5 days ago

कोरोना के नये वेरियंट ओमिक्रॉन की आहट से सरकारें सतर्क, महाराष्ट्र में सरकार ने लागू की नई कोरोना गाइडलाइन्स

महाराष्ट्र1 week ago

महाराष्ट्र में एक दिसंबर से स्कूल फिर से खुलेंगे, शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने की घोषणा

महाराष्ट्र4 weeks ago

भू-माफिया फराज मिस्त्री की अवैध बिल्डिंग से सैकड़ों लोगों की जान खतरे में, नगरसेविका आफरीन शेख और बीएमसी की साठगांठ पर उठ रहे सवाल?

महाराष्ट्र3 weeks ago

बीजेपी नेता आशीष शेलार का नवाब मलिक पर पलटवार, रियाज भाटी की तस्वीरें शरद पवार और सीएम उद्धव ठाकरे के साथ भी हैं..इसका जवाब कौन देगा?

अपराध3 weeks ago

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में अल्लामा इकबाल के पोस्टर पर विवाद, विरोध के बाद हटाई गई तस्वीर

अपराध2 years ago

झोमेटो की महिला ने गाड़ी उठा कर ले जाने पर ट्रैफिक पुलिस को दी गालियां

अपराध2 years ago

मुंबई के भायखला ई वार्ड में स्थित केएसए ग्रांड के 18वें फ्लोर से गिरी लिफ्ट, एक शख्स घायल

बॉलीवुड3 years ago

शाहरूख खान की आने वाली फिल्म जीरो का ट्रेलर इस दिन होगा रिलीज

बॉलीवुड3 years ago

पूर्व मिस यूनिवर्स सुष्मिता सेन का कभी देखा है इतना हॉट लुक

अपराध3 years ago

मुंबई लोकल से गिरी लड़की के खिलाफ आरपीएफ ने दर्ज किया केस

बॉलीवुड3 years ago

तनुश्री दत्ता के आरोपों पर अभिनेता नाना पाटेकर जल्द ही देंगे जवाब

मनोरंजन3 years ago

पीएम नरेंद्र मोदी ने शाहरूख खान को इस वजह से किया सैलूट

बॉलीवुड3 years ago

जानिए आखिर क्यों गोल्डन गर्ल आशा पारेख ने नहीं की शादी

अपराध3 years ago

मुंबई लोकल से गिरी लड़की की पहचान आई सामने, जानिए कौन है वो लड़की

अपराध3 years ago

देखिए मुंबई में हुए एक दर्दनांक हादसे का वीडियो

रुझान