Connect with us
Monday,26-September-2022
ताज़ा खबर

अंतरराष्ट्रीय

भारत ने मुझे ब्रांड बनने का दिया मौका : ड्वेन ब्रावो

Published

on

वेस्टइंडीज के पूर्व हरफनमौला खिलाड़ी ड्वेन ब्रावो का मानना है कि भारत ने उन्हें वह ब्रांड बनने का मौका दिया है, जो वह वर्तमान में हैं। उन्होंने कहा कि भारत में प्रशंसकों के प्यार के कारण देश उनके दिल के बहुत करीब हो गया है।

ब्रावो अब अपने क्रिकेट करियर और संगीत के अलावा ‘डीजेबी47 फैशन लेबल’ के साथ एक नई पारी की शुरुआत करने जा रहे हैं, जो भारत में अगले साल लॉन्च के साथ ऑनलाइन उपलब्ध होगा।

ब्रावो ने आईएएनएस के साथ एक विशेष बातचीत में कहा, “यह मेरे लिए बहुत खास है। क्योंकि मुझे नहीं लगता कि मैं आज भारत के बिना आधा भी ब्रांड होता। यह एक सच्चाई है और मैं भारत का आभार जताना चाहता हूं। जो मेरे घर से बहुत दूर है। मुझे यहां के लोगों से जो प्यार मिला है। इसलिए निश्चित रूप से मेरे दिल के बहुत करीब है। यही कारण है कि जब मैं संगीत या क्रिकेट की बात करता हूं, तो उसमें हमेशा भारतीय उपस्थिति होती है।”

बायो-बबल में क्रिकेट खेलने के बारे में बात करते हुए ब्रावो ने अपनी चुनौतियों को स्वीकार किया, लेकिन साथ ही सकारात्मक पहलुओं पर भी ध्यान केंद्रित करने पर जोर दिया।

ब्रावो के अनुसार, “मेरे लिए व्यक्तिगत रूप से ऐसे क्षण आए हैं, जहां यह चुनौतीपूर्ण लगा है। मेरे कहने का मतलब है कि कोरोना महामारी में बहुत से लोगों ने अपनी नौकरी खो दी और कुछ लोगों ने अपनी जान गंवा दी। हम अभी भी दुनियाभर में अपने प्रशंसकों के लिए काम करने, खेलने, कमाने और मनोरंजन करने में सक्षम हैं। इसलिए, मैं हमेशा सकारात्मक पक्ष को देखता हूं। इस तरह में बायो-बबल से निपटता हूं।”

वहीं, 38 साल की उम्र वाले इस खिलाड़ी ने उम्मीद जताई है कि बायो-बबल जल्द ही खत्म हो जाएगा।

ब्रावो ने आईएएनएस को आगे बताया, “खिलाड़ियों के रूप में उम्मीद करता हूं कि बायो-बबल जल्द ही समाप्त हो जाएगा, क्योंकि यह खिलाड़ियों पर भारी पड़ रहा है। आप देखते हैं कि बहुत सारे खिलाड़ी बायो-बबल के कारण टूर्नामेंट से बाहर हो जाते हैं, क्योंकि यह मानसिक रूप से आप पर दबाव डालता है। मुझे लगता है कि क्रिकेट अधिकारियों को यह देखने की जरूरत है कि इससे कब तक बनाए रखेंगे। फिलहाल अधिकांश खिलाड़ी बायो-बबल में रहकर ही खेलेंगे।”

ब्रावो के मुताबिक, “मैं हमेशा से फैशन में शामिल होना चाहता था, क्योंकि मैं ड्रेसिंग करना पसंद करता हूं। अब मेरा अपना ब्रांड है और अब लोग मेरे ब्रांड का सामान पहनना चाहते हैं तो इसलिए मैं सही दिशा में कदम उठा रहा हूं। उन्होंने आगे कहा कि मैं खुद को एक ऐसे ब्रांड के रूप में देखना चाहता हूं, जिससे लोग खुद को जोड़ना चाहे।”

ब्रावो ने कहा, “यह एक ट्रेंडी ब्रांड है, जो युवाओं, बच्चों और उनके माता-पिता को डीजे ब्रावो ब्रांड द्वारा बनाए गए कपड़े पहनने के लिए आकर्षित करेगा। उम्मीद है कि यह न केवल भारत में बल्कि ऑस्ट्रेलिया, यूके, कैरिबियन और यूएस जैसे स्थानों में विस्तारित होगा। यही मेरा अंतिम लक्ष्य है।”

अंतरराष्ट्रीय

भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया टी-20: रोमांचक मैच में भारत की जीत, सीरीज पर 2-1 से कब्जा

Published

on

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले जा रहे टी-20 सीरीज का आखिरी मैच रोमांचक हुआ। अंतिम ओवर में भारत ने 6 विकेट से जीत दर्ज कर सीरीज पर कब्जा कर लिया। भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 3 मैच की टी-20 सीरीज में 2-1 से मात दे दी है। तीसरे मैच में भारत को जीत के लिए 187 रनों का लक्ष्य मिला था, जिसे टीम इंडिया ने 4 विकेट खोकर हासिल कर लिया। भारत 187 रनों का पीछा करने के लिए जब मैदान में उतरी तो शुरुआत कुछ ज्याद अच्छी नहीं रही और केएल राहुल बहुत जल्द अपना विकेट गवां बैठे। जिसके बाद कप्तान रोहित शर्मा और विराट कोहली ने पारी को संभालने की कोशिश की। लेकिन 17 रनों के निजी स्कोर पर अपना विकेट गवां बैठे। उसके बाद सूर्यकुमार यादव की ताबड़तोड़ पारी और विराट कोहली की संभली हुई पारी के दमपर भारत ने ऑस्ट्रेलिया को हैदराबाद में 6 विकेट से हरा दिया है। सूर्यकुमार यादव ने मात्र 36 गेंदों पर 69 रनों की पारी खेली तो विराट कोहली से 48 गेंदों पर 63 रन ठोक डाले। भारत को आखिरी ओवर में 11 रनों की जरूरत थी, यहां पर टीम इंडिया ने विराट कोहली का विकेट भी खो दिया था लेकिन हार्दिक पंड्या ने टीम इंडिया को 1 गेंद शेष रहते 6 विकेट से जीत दिला दी। मैच जीतने के साथ ही भारत ने सीरीज भी 2-1 से अपने नाम कर ली।

ऑस्ट्रेलिया की ओर से इस मैच में टिम डेविड ने सिर्फ 27 बॉल में 54 रनों की पारी खेली, जिसमें 4 छक्के शामिल रहे। उनके अलावा कैमरून ग्रीन ने सिर्फ 21 बॉल में 52 रनों की पारी खेली। ऑस्ट्रेलिया को तेज शुरूआत मिली थी लेकिन उसकी पारी बीच में कुछ वक्त के लिए लड़खड़ा गई थी। अंत में डेनियल सेम्स ने भी नाबाद 28 रन की पारी खेली और 7 विकेच के खौकर 186 रन का स्कोर बनाया। भारत की ओर से अक्षर पटेल सबसे सफल गेंदबाज रहे, जिन्होंने तीन विकेट चटकाए।

सीरीज का पहला मैच ऑस्ट्रेलिया ने मोहाली में 4 विकेट से जीता था, जबकि भारत ने नागपुर में दूसरा मैच 6 विकेट से अपने नाम किया। आखिरी और निर्णायक मैच हैदराबाद के राजीव गांधी इंटरनेशनल स्टेडियम में खेला गया। जहां भारत ने सूर्यकुमार यादव की 69 और विराट कोहली की 63 रनों की पारी की बदोलत सीरीज पर कब्जा कर लिया।

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

उम्मीद है कि मैं अगली पीढ़ी को प्रेरित करने में सफल रही हूं: झूलन गोस्वामी

Published

on

महान तेज गेंदबाज झूलन गोस्वामी ने रविवार को उम्मीद जताई कि वह अगली पीढ़ियों को इस खूबसूरत खेल को खेलने के लिए प्रेरित करने में सफल रही हैं। वहीं, झूलन ने एक विदाई नोट लिखा है जिसमें उन्होंने खेल के सभी प्रारूपों से अपने संन्यास की पुष्टि की है। शनिवार को, झूलन को लॉर्डस में उचित विदाई दी गई, क्योंकि भारत ने इंग्लैंड को 16 रनों से हराकर 3-0 से एकदिवसीय श्रृंखला को क्लीन स्वीप किया जबकि वह अपने अंतिम मैच में बिना खाता खोले आउट हो गई, लेकिन उन्होंने अपने दस ओवरों में 2/30 विकेट हासिल किए, जिसमें तीन मेडन शामिल थे और अपने अंतिम ओवर में केट क्रॉस का विकेट लिया।

उन्होंने कहा, “मेरे क्रिकेट परिवार और आगे की सोच कर आखिरकार वह दिन आ गया है! जैसे हर यात्रा का अंत होता है, मेरी 20 साल से अधिक की क्रिकेट यात्रा आज समाप्त हो रही है क्योंकि मैं क्रिकेट के सभी प्रारूपों से अपनी संन्यास की घोषणा करती हूं।”

उन्होंने आगे कहा, “जैसा कि अर्नेस्ट हेमिंग्वे ने कहा, “यात्रा का अंत होना अच्छा है, लेकिन यह वह यात्रा है जो अंत में मायने रखती है।” मेरे लिए यह यात्रा सबसे संतोषजनक रही है। यह यात्रा कम से कम कहने के लिए रोमांचकारी रही है। मुझे दो दशकों से अधिक समय तक भारत की जर्सी पहने और अपनी क्षमता के अनुसार अपने देश की सेवा करने का सम्मान मिला है। जब भी मैं किसी मैच से पहले राष्ट्रगान सुनती हूं तो गर्व की अनुभूति होती है।”

इस खेल को खेलने वाले सबसे महान तेज गेंदबाजों में से एक के रूप में माने जाने वाली झूलन ने 12 टेस्ट, 204 वनडे और 68 टी20 में भारत का प्रतिनिधित्व किया, सभी प्रारूपों में 355 विकेट लिए, जो महिला अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में किसी भी गेंदबाज द्वारा सबसे अधिक है। वनडे मैचों में, उन्होंने 255 विकेट लिए, जो महिला अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में एक रिकॉर्ड है।

झूलन ने कहा, “क्रिकेट ने मुझे पिछले कुछ वर्षों में कई उपहार दिए हैं, सबसे महान और सबसे अच्छे, निस्संदेह, वे लोग हैं जिनसे मैं इस यात्रा के दौरान मिली हूं। मैंने जो दोस्त बनाए, मेरे प्रतियोगी, टीम के साथी, जिन पत्रकारों से मैंने बातचीत की, मैच अधिकारी, बोर्ड एडमिनिस्ट्रेटर और वे लोग जो मुझे खेलते हुए देखना पसंद करते हैं।”

झूलन ने आगे कहा, “मैं एक क्रिकेटर के रूप में हमेशा ईमानदार रही हूं और आशा करती हूं, मैं भारत और दुनिया में महिला क्रिकेट के विकास में योगदान देने में सक्षम हूं। मुझे उम्मीद है कि मैं अगली पीढ़ी की लड़कियों को इस खूबसूरत खेल को खेलने के लिए प्रेरित करने में सफल रही हूं।”

झूलन ने पांच महिला वनडे विश्व कप – 2005, 2009, 2013, 2017 और 2022 में भारत के लिए खेला। वह 43 विकेट के साथ महिला क्रिकेट विश्व कप के इतिहास में अग्रणी विकेट लेने वाली गेंदबाज बनी हुई है। उन्होंने उन लोगों के प्रति आभार व्यक्त किया हैं जो उनकी क्रिकेट यात्रा का हिस्सा रहे हैं।

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

दीप्ति के पास चार्ली डीन को रन आउट करने के सारे अधिकार थे : अंजुम चोपड़ा

Published

on

 भारत की पूर्व कप्तान अंजुम चोपड़ा को लगता है कि आलराउंडर दीप्ति शर्मा ने शनिवार को लॉर्डस में इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे वनडे मैच के दौरान चार्ली डीन को नियम के तहत रन आउट किया।

दीप्ति के 44वें ओवर में नॉन-स्ट्राइकर एंड पर चार्ली डीन रन आउट होने के बाद काफी हैरान रह गयीं ।

दीप्ति ने दिमाग का इस्तेमाल करते हुए रन आउट किया, जिसके बाद आलराउंडर को काफी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा। हालांकि अंजुम चोपड़ा ने दीप्ति का समर्थन करते हुए कहा कि अगर वह गलत होती तो टीवी अंपायर नॉट आउट दे देते।

अंजुम चोपड़ा ने आईएएनएस से कहा, “आईसीसी ने ये कानून बनाए हैं और इसे यूके ने ही इजाद किया है। इसलिए दीप्ति के पास बल्लेबाज को रन आउट करने का पूरा अधिकार था, क्योंकि बल्लेबाज गेंद फेंकने से पहले क्रीज छोड़ चुका था।”

उन्होंने कहा, “फील्ड अंपायर ने भी निर्णय को तीसरे अंपायर के पास भेज दिया था और वह आउट होने का निर्णय वहीं से आया था, इसलिए मुझे नहीं लगता कि कोई भ्रम या कोई असमानता है कि क्या किसी टीम को इस तरह से आउट करना चाहिए था या नहीं।”

उन्होंने आगे कहा, “मुझे नहीं पता कि विवाद क्यों है, अगर यह खेल के नियमों में नहीं होता, तो मैदान और टीवी दोनों अंपायर कहते कि बल्लेबाज नॉट आउट हैं।”

इस विकेट ने भारत को 16 रन से जीत दिलाई क्योंकि मेहमानों ने जीत के बाद वनडे सीरीज 3-0 से जीत ली। अंजुम चोपड़ा ने शानदार प्रदर्शन के लिए टीम इंडिया की सराहना की।

चोपड़ा ने कहा, “यह बहुत अच्छा रहा है, मैं 1999 में वहां गई थी। ऐसे कई क्षेत्र हैं, जहां उन्हें सुधार की आवश्यकता है लेकिन भारतीय टीम का श्रृंखला जीतना एक अच्छा संकेत है। यह एक सराहनीय प्रदर्शन है, क्योंकि भारतीय टीम ने इंग्लैंड की परिस्थितियों में पहले कभी ऐसा प्रदर्शन नहीं किया था।”

भारत ने अब आईसीसी महिला चैम्पियनशिप 2022-2025 में छह मैचों में से छह जीत दर्ज की हैं।

Continue Reading
Advertisement
बॉलीवुड44 seconds ago

‘खतरों के खिलाड़ी 12’ की ट्रॉफी जीतने पर तुषार कालिया को मिले 20 लाख रुपए और एक कार

बॉलीवुड3 mins ago

जेरार्ड बटलर और जूडी डेंच ऋचा-अली की शादी में होगें शामिल

बॉलीवुड13 mins ago

200 करोड़ की रंगदारी का मामले में जैकलीन फर्नाडीज दिल्ली की अदालत में पेश होंगी

बॉलीवुड17 mins ago

शाहरुख खान ने सोशल मीडिया पर शेयर की शर्टलेस तस्वीर, फ्लॉन्ट किए ‘पठान’ एब्स, लंबे बाल

अंतरराष्ट्रीय21 mins ago

भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया टी-20: रोमांचक मैच में भारत की जीत, सीरीज पर 2-1 से कब्जा

अंतरराष्ट्रीय26 mins ago

उम्मीद है कि मैं अगली पीढ़ी को प्रेरित करने में सफल रही हूं: झूलन गोस्वामी

अंतरराष्ट्रीय29 mins ago

दीप्ति के पास चार्ली डीन को रन आउट करने के सारे अधिकार थे : अंजुम चोपड़ा

अपराध33 mins ago

एसडीपीआई को दिल्ली के जंतर मंतर पर प्रदर्शन की इजाजत नहीं मिली

राजनीति35 mins ago

मार्गरेट अल्वा ने राजस्थान कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं की खिंचाई की

राजनीति39 mins ago

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राहुल गांधी ने मनमोहन सिंह को जन्मदिन की बधाई दी

राजनीति3 weeks ago

झारखंड विधानसभा में हेमंत सोरेन सरकार ने जीता विश्वास मत, भाजपा का बहिष्कार

राजनीति2 weeks ago

भारत का दूध उत्पादन 6 फीसदी बढ़ा जो वैश्विक औसत से अधिक है : प्रधानमंत्री

महाराष्ट्र3 weeks ago

भारत में कोविड के 7,219 नए मामले दर्ज, 33 मौतें

अपराध4 weeks ago

हिजाब मामले में सुप्रीम कोर्ट ने कहा, ‘हम फोरम शॉपिंग की इजाजत नहीं देंगे’

अपराध2 weeks ago

चीन के सिचुआन में भूकंप से मरने वालों की संख्या 93 तक पहुंची

राजनीति2 weeks ago

भारत जोड़ो यात्रा में राहुल गांधी 25 किमी की पदयात्रा करना चाहते : जयराम रमेश

राजनीति3 weeks ago

17 सितंबर को राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाएं, तेलंगाना मुक्ति दिवस नहीं: ओवैसी

राजनीति4 weeks ago

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से मुलाकात के बाद बोलीं मायावती- देश को उनसे बहुत सारी आशाएं हैं

महाराष्ट्र4 weeks ago

शिंदे सेना और भाजपा को सत्ता से बाहर रखने के लिए महाविकास आघाड़ी के घटक दल एक साथ चुनाव लड़ेंगे: अजित दादा पवार

अपराध4 weeks ago

गोवा फॉरवर्ड पार्टी ने फोगाट की मौत पर सीएम सावंत से पूछे तीखे सवाल

रुझान