Connect with us
Thursday,06-October-2022

अंतरराष्ट्रीय

आईपीएल 2022 : दिल्ली कैपिटल्स ने चार विकेट से केकेआर को दी मात

Published

on

 रोवमैन पॉवल (नाबाद 33) की धुंआधार पारी और गेंदबाज कुलदीप यादव (4/14) की शानदार गेंदबाजी की बदौलत यहां वानखेड़े स्टेडियम में गुरुवार को खेले गए आईपीएल 2022 के 41वें मुकाबले में दिल्ली कैपिटल्स (डीसी) ने कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) को चार विकेट से हरा दिया। कोलकाता ने 20 ओवरों में नौ विकेट खोकर 146 रन बनाए थे। वहीं, शानदार गेंदबाजी करने के लिए ‘प्लेयर ऑफ द मैच’ का खिताब कुलदीप यादव के नाम रहा। 147 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी दिल्ली कैपिटल्स की शुरुआत खराब रही। गेंदबाज उमेश यादव ने पहली गेंद पर ही दिल्ली को जोरदार झटका दिया। उन्होंने पृथ्वी शॉ का खुद कैच पकड़कर वापस पवेलियन भेज दिया। वहीं, उनके आउट होने के बाद बल्लेबाजी करने आए मिशेल मार्श को दूसरी गेंद पर एक जीवनदान मिला। सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर क्रीज पर बने हुए थे।

दूसरे गेंदबाज हर्षित राणा ने मार्श (13) के रूप में कोलकाता को दूसरी सफलता दिलाई। शुरुआती दो ओवरों मे दो विकेट लेकर कोलकाता ने मैच में शानदार वापसी की। गेंदबाजों ने बल्लेबाजों पर अच्छा खासा दबाव बना कर रखा हुआ था। उनके बाद ललित यादव ने बल्लेबाजी को संभाला।

दिल्ली के दो विकेट गिरने के बावजूद डेविड वॉर्नर आक्रामक अंदाज में बल्लेबाजी कर रहे थे। पहले पावरप्ले में दिल्ली की टीम ने दो विकेट के नुकसान पर 47 रन बना लिए थे।

हालांकि, दोनों बल्लेबाजों ने शानदार बल्लेबाजी की। वहीं, ललित यादव और डेविड वॉर्नर के बीच अर्धशतकीय साझेदारी हो चुकी है। नौ ओवर के बाद दिल्ली का स्कोर दो विकेट पर 80 रन पर था।

गेंदबाज उमेश यादव को यह जोड़ी अच्छी नहीं लग रही थी। यादव ने कोलकाता की टीम को तीसरी सफलता दिलाई। उन्होंने शानदार बल्लेबाजी कर रहे डेविड वॉर्नर को सुनील नरेन के हाथों कैच आउट कराया। वॉर्नर ने 26 गेंद में 42 रन बनाकर टीम के स्कोर को बढ़ाने में अहम योगदान दिया। उनके बाद पंत बल्लेबाजी करने आए।

वहीं, दिल्ली को एक बार फिर बैक-टू-बैक ओवर में तीन झटके लगे। गेंदबाज सुनील नरेन ने ललित यादव को (22) आउट किया। उनके बाद रोवमैन पॉवल क्रिज पर आए। हालांकि, उमेश यादव ने अपने अगले ओवर में एक और विकेट झटका, जिसमें उन्होंने पंत को आउट किया। इस बीच पंत से दिल्ली टीम को कुछ रन बनाने की उम्मीद थी। लेकिन, वे इस उम्मीद को पूरा नहीं कर पाए और 2 रन बनाकर आउट हुए। उनके बाद अक्षर पटेल ने बल्लेबाजी का मोर्चा संभाला।

पॉवेल और पटेल ने टीम को मैच में एक बार फिर वापसी कराते हुए 29 रन की साझेदारी निभाई। हालांकि, पटेल इस दौरान रन आउट हो गए। पटेल ने टीम के लिए अहम पारी खेली और 17 गेंदों में एक छक्का और दो चौके की मदद से 24 रन की पारी खेली और पॉवेल क्रीज पर बने हुए थे। टीम को छठा झटका 113 के स्कोर पर लगा। उनके बाद शार्दुल ठाकुर क्रीज पर आए।

पॉवेल ने इस बीच एक शानदार पारी खेली और टीम को जीत की ओर ले गए। बल्लेबाज ने 16 गेंद में तीन छक्के और एक चौके की मदद से 33 रन की पारी खेली। पॉवेल ने टीम के लिए एक जिताऊ पारी खेली और छक्के के साथ मैच को समाप्त किया। दिल्ली कैपिटल्स ने 19 ओवर में छह विकेट खोकर 150 रन बनाए और चार विकेट से मैच अपने नाम कर लिया।

अंतरराष्ट्रीय

आईसीसी प्लेयर ऑफ द मंथ के लिए भारत के ऑलराउंडर अक्षर पटेल नामित

Published

on

भारत के बाएं हाथ के स्पिन आलराउंडर अक्षर पटेल को सितंबर के महीने में प्रभावशाली और किफायती गेंदबाजी प्रदर्शन की एक श्रृंखला के बाद आईसीसी मेन्स प्लेयर आफ द मंथ पुरस्कार के लिए तीन नामांकित खिलाड़ियों में से एक के रूप में नामित किया गया है। पटेल के अलावा, आस्ट्रेलिया के आलराउंडर कैमरन ग्रीन और पाकिस्तान के विकेटकीपर-बल्लेबाज मोहम्मद रिजवान को भी सम्मान के लिए नामित किया गया है।

भारत के गेंदबाजी आक्रमण में एक प्रमुख खिलाड़ी पटेल ने प्लेयर आफ द मंथ पुरस्कारों के लिए अपना पहला नामांकन अर्जित करने के लिए सितंबर का एक शानदार आनंद लिया। जब से बाएं हाथ के सीनियर स्पिन आलराउंडर रवींद्र जडेजा घुटने की चोट और बाद की सर्जरी के कारण टी20 विश्व कप से बाहर हो गए थे, पटेल ने भारत और आस्ट्रेलिया के बीच टी20 श्रृंखला के दौरान शानदार प्रदर्शन से उनकी कमी को पूरा किया है।

11.44 की औसत से कुल नौ विकेट लेते हुए और केवल 5.72 की शानदार इकॉनमी दर के साथ, उन्होंने आस्ट्रेलिया के खिलाफ घरेलू श्रृंखला में विशेष रूप से शानदार प्रदर्शन किया, जहां उन्होंने मोहाली में 3/17 विकेट लिए। हालांकि आस्ट्रेलिया ने 209 का पीछा किया। फिर अगले मैच में उन्होंने 2/13 विकेट चटकाए, जिससे भारत को नागपुर में जीत के साथ सीरीज को 1-1 से बराबरी करने का मौका मिला।

हैदराबाद में श्रृंखला के निर्णायक में, पटेल ने मैथ्यू वेड को आउट कर कुल 3/33 के आंकड़े हासिल करने से पहले आरोन फिंच और जोश इंगलिस के विकेटों के साथ दो महत्वपूर्ण साझेदारियों को तोड़ा और प्लेयर आफ द सीरीज का पुरस्कार लिया।

श्रृंखला में 6.3 की इकॉनोमी दर से, अक्षर का सफर आठ विकेट लेकर समाप्त हुआ, जहां श्रृंखला में अगले सबसे अधिक विकेट लेने वाले खिलाड़ी ने केवल तीन विकेट लिए। उन्होंने तिरुवनंतपुरम में पहले टी20 में चार ओवरों में सिर्फ 16 रन देकर अपना अच्छा फॉर्म जारी रखा, जिससे खेल के छोटे प्रारूप में भारत के लिए एक महत्वपूर्ण खिलाड़ी के रूप में उनकी महत्वपूर्ण गेंदबाजी को सराहा गया।

सितंबर के दौरान कई बेहतरीन प्रदर्शन करने के बाद आस्ट्रेलिया के ग्रीन को मेन्स प्लेयर आफ द मंथ अवार्ड के लिए अपना पहला नामांकन मिला।

आस्ट्रेलिया के लिए तीन एकदिवसीय मैचों में से पहले में न्यूजीलैंड पर रोमांचक रूप से दो विकेट से जीत हासिल करने के लिए नाबाद 89 रन बनाने के बाद, अंतत: चैपल-हैडली ट्रॉफी जीतने के साथ उन्होंने फिर से भारत के खिलाफ टी20 श्रृंखला में ध्यान खींचा।

30 गेंदों में 61 रनों की रोमांचक पारी ने आस्ट्रेलिया के लिए टी20 ओपनर के रूप में पहली बार मोहाली में पहला मैच जीतने में उनकी टीम की मदद की, और श्रृंखला जीतने में नाकाम रहने के बावजूद, ग्रीन ने अपनी टीम के लिए 39.33 का औसत के साथ 118 रनों के साथ रन स्कोरिंग चार्ट में शीर्ष स्थान हासिल किया, जिसमें हैदराबाद में श्रृंखला के निर्णायक मैच में एक और अर्धशतक शामिल है।

रिजवान बल्लेबाजों के लिए टी20 प्लेयर रैंकिंग में सबसे ऊपर है और पूरे सितंबर में उनके फॉर्म ने यह स्पष्ट करने में मदद की है कि वह सूची में सबसे ऊपर क्यों हैं। उन्होंने अपनी टीम के एशिया कप अभियान के बाद के चरणों में तीन अर्धशतक दर्ज किए, जिसने उन्हें इंग्लैंड की टीम के खिलाफ बाद की टी20 श्रृंखला में अपने शानदार फॉर्म को जारी रखा। उन्होंने दूसरे टी 20 में नाबाद 88 रन बनाये। रिजवान ने अपने 10 टी20 मुकाबलों में 69.12 के औसत से 553 रन बनाये हैं।

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

हरमनप्रीत कौर, स्मृति मंधाना आईसीसी ‘महिला प्लेयर ऑफ द मंथ’ के लिए नामांकित

Published

on

भारत की कप्तान हरमनप्रीत कौर और उप-कप्तान स्मृति मंधाना ने बुधवार को सितंबर 2022 के लिए आईसीसी महिला प्लेयर आफ द मंथ पुरस्कार के लिए नामांकन अर्जित किया। दोनों के अलावा, बांग्लादेश की कप्तान निगार सुल्ताना को भी नामित किया गया है।

महीने की शुरूआत में इंग्लैंड में टी20 श्रृंखला में रन और वांछित परिणाम नहीं मिलने के बावजूद, हरमनप्रीत बाद की एकदिवसीय श्रृंखला के दौरान अच्छी फॉर्म में दिखीं, जिसके बाद उन्हें सबसे अधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी के रूप में प्लेयर आफ द सीरीज का पुरस्कार मिला। उन्होंने स्ट्राइक रेट 103.27 से 221 रन बनाए।

तीन मैचों में 221 रन बनाकर, उन्होंने पहले मैच में नाबाद 74 रनों के साथ फिनिशिंग लाइन पर अपनी टीम को आगे रखा, इससे पहले उन्होंने दूसरे मैच में अपनी टीम के लिए नाबाद 143 रनों की पारी खेली। उन्होंने इस प्रारूप में सर्वश्रेष्ठ पारी के साथ 1999 के बाद से इंग्लैंड में अपनी टीम के लिए ऐतिहासिक पहली वनडे श्रृंखला जीत और उसके बाद लॉर्डस में 3-0 से श्रृंखला में क्लीन स्वीप करने के लिए नेतृत्व किया।

हरमनप्रीत की तरह, स्मृति, भारत की बल्लेबाजी लाइनअप की प्रमुख बल्लेबाजों में से एक हैं। उन्होंने सफेद गेंद की दोनों श्रृंखलाओं में लगातार रन बनाए, डर्बी में दूसरे टी20 के दौरान 53 गेंदों में नाबाद 79 रन बनाये। टी20 श्रृंखला में भारत के लिए सबसे अधिक 55.50 के औसत से 111 रन बनाने वाली खिलाड़ी बनने के बाद सीरीज को समाप्त किया। वहीं उन्होंने पहले एकदिवसीय मैच में 91 रन बनाए।

अंतिम मैच में जहां भारत लॉर्डस में केवल 169 रन पर ढेर हो गया, उन्होंने सितंबर में अपनी सफलताओं के पैमाने को रेखांकित करते हुए, दोनों प्रारूपों में 50 से अधिक के औसत से महीने का अंत करने के लिए एक अर्धशतक लगाया।

दूसरी ओर, निगार ने संयुक्त अरब अमीरात में अपनी टीम के सफल आईसीसी महिला टी20 विश्व कप क्वालीफिकेशन अभियान के दौरान, पांच टी20 में 45 के औसत से 180 रन बनाए।

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

भारतीय कोच और कप्तान ने दिए संकेत: बुमराह की जगह लेने के लिए सबसे प्रबल दावेदार शमी

Published

on

तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह टी20 विश्व कप से बाहर हो चुके हैं, भारत के पास बुमराह का विकल्प देने के लिए 15 अक्टूबर तक का समय है। हालांकि टीम के मुख्य कोच राहुल द्रविड़ और कप्तान रोहित शर्मा ने पहले ही इस बात का संकेत दे दिए हैं कि मोहम्मद शमी, बुमराह का रिप्लेसमेंट बनने की दौड़ में सबसे आगे हैं।

शमी ने अपना आखिरी टी20 अंतर्राष्ट्रीय मुकाबला पिछले वर्ष यूएई में टी20 विश्व कप के दौरान खेला था। वहीं इस वर्ष टी20 विश्व कप से पहले उनके सबसे छोटे प्रारूप में खेलने की संभावना उस वक्त समाप्त हो गई जब वे ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध होने वाली टी20 सीरीज से पहले ही कोरोना के शिकार हो गए। इसके चलते उन्हें ऑस्ट्रेलिया के साथ साथ दक्षिण अफ्ऱीका के विरुद्ध सीरीज से भी बाहर रहना पड़ा। इस समय वह बेंगलुरु स्थित नेशनल क्रिकेट अकादमी (एनसीए) में हैं, जहां उनकी फिटनेस की निगरानी रखी जा रही है।

शमी और दीपक चाहर टी20 विश्व कप के लिए चयनित दल में दो ऐसे तेज गेंदबाज हैं जो कि रिजर्व खिलाड़ियों में शामिल हैं। हालांकि चयनकर्ता यदि रिजर्व सूची के बाहर से किसी खिलाड़ी को शामिल करना चाहें तो उन्हें इसका भी अधिकार हासिल है।

टीम के मुख्य कोच द्रविड़ ने दक्षिण अफ्ऱीका के विरुद्ध तीसरे टी20 अंतर्राष्ट्रीय के बाद प्रेस वार्ता के दौरान कहा, “रिप्लेसमेंट के संबंध में हमारे पास 15 अक्टूबर तक का समय है। शमी पहले से ही रिजर्व खिलाड़ियों की सूची में शामिल हैं, लेकिन यह दुर्भाग्यपूर्ण रहा कि वह यह सीरीज नहीं खेल पाए। जो कि विश्व कप के लिहाज से हमारे लिए अच्छा रहता। वह इस समय एनसीए में हैं, हमें उनकी रिपोर्ट का इंतजार करना होगा कि वह किस तरह से उबर रहे हैं और कोरोना के 14-15 दिनों के बाद वह किस स्थिति में हैं। एक बार मुझे उनकी स्थिति का पता चल जाए इसके बाद हम और चयनकर्ता कोई निर्णय लेंगे।”

वहीं कप्तान रोहित ने पोस्ट मैच प्रेजेंटेशन के दौरान कहा कि भारतीय टीम एक ऐसे गेंदबाज को तरजीह दे सकती है, जिसे पहले ऑस्ट्रेलिया की परिस्थिति में गेंदबाजी करने का अनुभव हो। उन्होंने कहा, “हम ऐसे गेंदबाज को अंदर लेकर आएंगे जिसके पास अनुभव हो, जिसने पहले ऑस्ट्रेलिया में गेंदबाजी की हो। मुझे नहीं पता वो गेंदबाज कौन होगा लेकिन हमारे पास कुछ विकल्प मौजूद हैं। एक बार ऑस्ट्रेलिया पहुंच जाने के बाद हम इस संबंध में अंतिम निर्णय लेंगे।”

शमी काफी बार ऑस्ट्रेलिया दौरे पर जा चुके हैं। वे ऑस्ट्रेलिया में जीती गई दो टेस्ट सीरीज जीत में शामिल रहने के साथ साथ 2015 का एकदिवसीय विश्व कप भी खेल चुके हैं, जहां वह सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाजों की सूची में भी शामिल थे। हालांकि शमी ने ऑस्ट्रेलिया में सिर्फ़ एक ही टी20 मुकाबला खेला है लेकिन इस आधार पर उनकी दावेदारी दीपक चाहर से कम नहीं हो जाती। चाहर ने टी20 अंतर्राष्ट्रीय के तीन मुकाबले ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर खेले हैं जबकि इसके अलावा उनके पास किसी अन्य प्रारूप में खेलने का अनुभव नहीं है।

बुमराह की अनुपस्थिति में शमी अपनी तेज गेंदों की वजह से भी विश्व कप के सदस्य बनने के प्रबल दावेदार हैं। हालांकि भुवनेश्वर कुमार, हर्षल पटेल और अर्शदीप सिंह के पास अपनी तरह की क्षमताएं हैं लेकिन वे मध्य गति के तेज गेंदबाज के तौर पर ही चिन्हित किए जा सकते हैं। चाहर भुवनेश्वर की ही तरह के गेंदबाज हैं जो कि गेंद को स्विंग कराते हैं और पावरप्ले को संचालित करते हैं।

शमी ने आईपीएल 2022 में पावरप्ले में भी प्रभावशाली गेंदबाजी की थी। वह इस चरण में संयुक्त रूप से सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज थे। उन्होंने 24.09 के औसत और 6.62 की इकोनॉमी के साथ 11 विकेट अपने नाम किए थे। शमी की अतिरिक्त गति और हार्ड लेंथ गेंदें डालने की क्षमता उन्हें चाहर के मुकाबले प्रबल दावेदार बनाती हैं।

दूसरी तरफ अधिक टी20 मुकाबले खेलने के अलावा एक अन्य चीज जो चाहर को शमी के आगे खड़ा करती है, वह है उनकी बल्लेबाजी करने की क्षमता। उन्होंने मंगलवार की शाम 17 गेंदों पर 31 रनों की पारी खेलकर यह दिखाया भी। ऐसे में भारत बुमराह के रिप्लेसमेंट के तौर पर एक ऐसे गेंदबाज का भी रुख कर सकती है जो कि बल्लेबाजी में भी हाथ बंटा सके।

इंदौर टी20 के बाद स्टार स्पोर्ट्स से बात करते हुए द्रविड़ ने भारत की बल्लेबाजी में आई अधिक आक्रामकता और बल्लेबाजी में आई गहराई की भूमिका के बारे में बात की। उन्होंने कहा, “पिछले टी20 विश्व कप के बाद हम सभी ने रोहित के साथ चर्चा की और हमने सकारात्मकता के साथ खेलने के संबंध में प्रयास भी किए। हमें विश्वास है कि जिस स्तर की हमारे पास बल्लेबाजी है, हम थोड़ा अधिक आक्रामक रवैए के साथ भी खेल सकते हैं और इसका अर्थ यह भी हुआ कि हमें बल्लेबाजी को गहराई भी प्रदान करनी होगी।”

द्रविड़ ने इंदौर में मिली हार के बावजूद निचले क्रम में बल्लेबाजों की प्रशंसा की। उन्होंने कहा, “मुझे इस बात की खुशी है कि हमने आक्रामक खेल जारी रखा। निचले क्रम में भी हम आक्रामक शॉट्स खेलते रहे। दीपक और हर्षल ने भी कुछ अच्छे शॉट्स लगाए। आने वाले मुकाबलों को ध्यान में रखते हुए निचले क्रम में ऐसा प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों की मौजूदगी हमारे लिए शुभ संकेत है।”

Continue Reading
Advertisement
महाराष्ट्र12 hours ago

दशहरा रैली से गरजे उध्दव ठाकरे, कहा शिवसैनिक कटप्पा को माफ नहीं करेंगे, शिंदे ने कहा मैंने गद्दारी नहीं की

राजनीति14 hours ago

कुल्लू दशहरा में शामिल होने वाले पहले पीएम बने मोदी

अपराध14 hours ago

मुंबई से सटे ठाणे ज़िले के हीरानंदानी हाईराइज बिल्डिंग में लगी आग पर काबू, 10 को बचाया गया

राष्ट्रीय14 hours ago

गुजरात के मुख्यमंत्री ने उद्योगों की सहायता के लिए ‘आत्मनिर्भर गुजरात योजना’ शुरू की

अंतरराष्ट्रीय14 hours ago

अमेजन ने बच्चों के लिए ग्लो वीडियो कॉलिंग और गेमिंग डिवाइस को बंद किया

अंतरराष्ट्रीय14 hours ago

अफ्रीका में अपना पहला क्लाउड क्षेत्र स्थापित करेगा गूगल

बॉलीवुड14 hours ago

जेनेलिया डिसूजा ने दशहरा पर दी बधाइयां

बॉलीवुड14 hours ago

माधुरी दीक्षित ने मुंबई में खरीदा 48 करोड़ रुपये का अपार्टमेंट

अंतरराष्ट्रीय14 hours ago

आईसीसी प्लेयर ऑफ द मंथ के लिए भारत के ऑलराउंडर अक्षर पटेल नामित

अंतरराष्ट्रीय14 hours ago

हरमनप्रीत कौर, स्मृति मंधाना आईसीसी ‘महिला प्लेयर ऑफ द मंथ’ के लिए नामांकित

महाराष्ट्र2 weeks ago

प्रधानमंत्री को जन्मदिन की बधाई देने के बाद महाराष्ट्र के किसान ने की आत्महत्या

राजनीति3 weeks ago

भारत का दूध उत्पादन 6 फीसदी बढ़ा जो वैश्विक औसत से अधिक है : प्रधानमंत्री

अपराध3 weeks ago

चीन के सिचुआन में भूकंप से मरने वालों की संख्या 93 तक पहुंची

राजनीति3 weeks ago

भारत जोड़ो यात्रा में राहुल गांधी 25 किमी की पदयात्रा करना चाहते : जयराम रमेश

अपराध2 weeks ago

पाकिस्तान सीमा पर बीएसएफ ने 21 करोड़ की हेरोइन और हथियार जप्त किए, ड्रोन से गिराए गए नशीले पदार्थ

महाराष्ट्र3 weeks ago

मीडिया से नाराज हुए अजित पवार, कहा ‘क्या मैं वॉशरूम भी नहीं जा सकता.?’

अंतरराष्ट्रीय3 weeks ago

एशिया कप 2022 : पाकिस्तान के वसीम अकरम, शाहिद अफरीदी ने कहा- श्रीलंका चैंपियन की तरह खेला

महाराष्ट्र4 weeks ago

भारत में कोविड-19 के 5,554 नए मामले दर्ज, 18 मौतें

महाराष्ट्र4 weeks ago

मुंबई दौरे के दौरान अमित शाह की सुरक्षा में लापरवाही का मामला, संदिग्ध शख्स को पुलिस ने किया गिरफ्तार

अपराध2 weeks ago

ईडी की चार्जशीट में पार्थ चटर्जी-अर्पणा मुखर्जी की 103 करोड़ रुपये की संपत्ति दर्ज

रुझान