Connect with us
Sunday,28-November-2021

राष्ट्रीय

आरआईएल के लिए ‘नए तेल’ के रूप में उभरेगा सिलिकॉन और हाइड्रोजन

Published

on

 मॉर्गन स्टेनली ने एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा है कि रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) ने 2030 तक संभावित रूप से 5 ट्रिलियन डॉलर के बाजार में प्रतिस्पर्धी मूल्य (अपने मौजूदा ऊर्जा पोर्टफोलियो के समान) पर डीकाबोर्नाइजेशन समाधान पेश करने के लिए अपने ऊर्जा कारोबार को बदलने की योजना बनाई है। उच्च प्रवेश बाधाओं, तकनीकी प्रगति और अच्छे रिटर्न वाले सभी क्षेत्रों में रणनीति हाइड्रोजन, इंटिग्रेटिड सोलर पीवी और ग्रिड बैटरी के क्षेत्रों में सहायक बुनियादी ढांचा प्रदान करना है।

यह 12 अरब डॉलर के निवेश के साथ चार गीगाफैक्ट्री बनाने की योजना बना रहा है, जो अक्षय/वितरित ऊर्जा समाधानों के पूरे स्पेक्ट्रम की पेशकश करता है, क्योंकि यह भारत के क्वाट्र्ज और सिलिकॉन संसाधनों पर पूंजीकरण करता है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि हाइड्रोजन मूल्य श्रृंखला पर ध्यान देने से ऊर्जा के संचालन को डीकार्बोनाइज करने, बैटरी के साथ ऊर्जा भंडारण की तारीफ करने और संभावित रूप से हरी अमोनिया का निर्यात करने के महत्वपूर्ण अवसर मिलते हैं।

आरआईएल का दृष्टिकोण इस मायने में अद्वितीय है कि यह यूरोपीय तेल कंपनियों से इलेक्ट्रॉन्स के एक समर्थक बनने के लिए उनके उत्पादन पर कम ध्यान देने के साथ, और अमेरिकी बड़ी कंपनियों की तरह यह कार्बन कैप्चर जैसे सहक्रियात्मक डीकार्बोनाइजेशन क्षेत्रों (मौजूदा संचालन के साथ) पर ध्यान केंद्रित करेगा।

रिपोर्ट में कहा गया है कि यह योजना आरआईएल को दुनिया के लिए एक वैकल्पिक प्रौद्योगिकी आपूर्तिकर्ता बनने की क्षमता के साथ सबसे बड़ा नवीकरणीय बुनियादी ढांचा उत्पादक बना देगी, जैसा कि आरआईएल उच्च ग्रेड रिफाइनरी ईंधन का निर्यात करता है।

पिछले दशक में, प्रौद्योगिकी में आरआईएल निवेश ने स्क्रैच से मूल्य सृजन में 125 बिलियन डॉलर का निवेश किया, और हम अगले दशक में बेहतर प्रदर्शन की कुंजी के रूप में हरित ऊर्जा बुनियादी ढांचे में निवेश को देखते हैं।

पिछले आधे दशक में आरआईएल ने टेलीकॉम डेटा पेश करने में जो सफलता हासिल की है, उसने बाजार को चौंका दिया है।

मॉर्गन स्टेनली ने कहा कि हम उम्मीद करते हैं कि सिलिकॉन और हाइड्रोजन आरआईएल के लिए अगले दशक के ‘नए तेल’ के रूप में उभरेंगे, अगर 2025 तक चीजें गिरती हैं तो संभावित रूप से मूल्य सृजन में 60 बिलियन डॉलर तक का इजाफा होगा।

रिपोर्ट में कहा गया है कि हालांकि आरआईएल 27 फीसदी वाईटीडी ऊपर है, लेकिन यह अभी भी बाजार और समकक्ष गुणकों की तुलना में छूट पर कारोबार कर रहा है, और हमें लगता है कि नए ऊर्जा कारोबार के लिए कोई मूल्य जिम्मेदार नहीं ठहराया जा रहा है।

राष्ट्रीय

दिवाली के बाद से डीजल, पेट्रोल की कीमतों में कोई बदलाव नहीं

Published

on

केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा दिवाली की पूर्व संध्या पर शुल्क में बदलाव के बाद तेल विपणन कंपनियों ने प्रमुख भारतीय शहरों में डीजल और पेट्रोल की कीमतों में कोई बदलाव नहीं किया है। दिल्ली में डीजल और पेट्रोल की कीमतें क्रमश: 86.67 रुपये प्रति लीटर और 103.97 रुपये प्रति लीटर पर स्थिर रहीं।

आर्थिक राजधानी मुंबई में इनकी कीमत क्रमश: 94.14 रुपये और 109.98 रुपये है।

कोलकाता में भी कीमतें क्रमश: 89.79 रुपये और 104.67 रुपये पर स्थिर रहीं।

चेन्नई में पेट्रोल-डीजल 91.43 रुपये और 101.40 रुपये पर रहा।

देशभर में भी, ईंधन की कीमत रविवार को काफी हद तक अपरिवर्तित रही, लेकिन स्थानीय करों के स्तर के आधार पर खुदरा दरें भिन्न हैं।

केंद्र द्वारा 3 नवंबर को उत्पाद शुल्क में कटौती कोरोना महामारी की शुरूआत के बाद से इस तरह की पहली कवायद है।

दरअसल, सरकार ने कोरोना राहत उपायों के लिए अतिरिक्त संसाधन जुटाने के लिए मार्च और फिर मई 2020 में पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क में तेजी से बदलाव किया था।

Continue Reading

राष्ट्रीय

वित्त वर्ष 2022 में कपड़ा क्षेत्र की सालाना बिक्री में सुधार की मजबूत मांग

Published

on

इंडिया रेटिंग्स एंड रिसर्च (इंड-रा) ने कहा कि मजबूत घरेलू और निर्यात मांग से वित्त वर्ष 22 में समग्र कपड़ा क्षेत्र की साल-दर-साल बिक्री में सुधार होगा। एजेंसी के अनुसार, घरेलू और निर्यात मांग शेष वित्त वर्ष 22 के दौरान बनी रहेगी।

इसके अलावा, इसने वित्त वर्ष 22 के रिमाइंडर के लिए सेक्टर के रेटिंग आउटलुक को ‘स्थिर’ पर बनाए रखा है, जिससे सेक्टर के खिलाड़ियों की लाभप्रदता में निरंतर सुधार और उनकी बैलेंस शीट के निरंतर विचलन की उम्मीद है।

“उच्च बिक्री मात्रा और बढ़े हुए पूंजीगत व्यय के पीछे कार्यशील पूंजी की आवश्यकता में संभावित वृद्धि के बावजूद मजबूत ऑपरेटिंग कैश फ्लो से उनके क्रेडिट मेट्रिक्स में सुधार होगा।”

“एकीकृत व्यापार संचालन के लाभ, स्वस्थ बैलेंस शीट तरलता और वित्त वर्ष 2012 में परिचालन क्षमता को पहले ही रेटिंग में शामिल कर लिया गया है।”

एजेंसी के अनुसार, शहरों में मॉल और रिटेल स्पेस बंद होने के कारण, ‘वित्त वर्ष की 22 की पहली तिमाही’ के दौरान मामूली गिरावट से पहले घरेलू मांग में ‘वित्त वर्ष 21 की दूसरी तिमाही’ में सुधार हुआ।

“‘वित्त वर्ष 22 की पहली तिमाही’ के दौरान, खिलाड़ियों ने सालाना आधार पर वॉल्यूम में वृद्धि देखी, हालांकि इसमें साल दर साल में मामूली गिरावट आई।”

इसके अनुसार, सूती धागे और कपड़े जैसे खंडों में ‘वित्त वर्ष 22 की पहली तिमाही’ के दौरान डाउनस्ट्रीम खिलाड़ियों से साल-दर-साल उच्च मांग देखी गई।

“होम टेक्सटाइल की घरेलू मांग बनी हुई है, जबकि बुने हुए कपड़े और परिधानों के लिए ‘वित्त वर्ष 22 की दूसरी तिमाही’ से खुदरा दुकानें और मॉल खुलने की संभावना है।”

इसके अलावा, एजेंसी को उम्मीद है कि त्वरित टीकाकरण और ‘चाइना प्लस वन’ सोसिर्ंग रणनीति के कारण वित्त वर्ष 22 की दूसरी तिमाही में निर्यात मांग में मामूली सुधार होगा।

“मांग में वित्त वर्ष 2023 के बाद और सुधार होने की संभावना है। इसके अलावा, चीन (शिनजियांग) कपास के सोसिर्ंग प्रतिबंध का चल रहा प्रभाव, मांग को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है।”

Continue Reading

राष्ट्रीय

बिहार: लीची किसानों की आमदनी बढ़ाने में मददगार बना मुर्गी पालन

Published

on

बिहार के मुजफ्फरपुर की लीची देश में ही नहीं विदेशों में भी चर्चित है। अब इन लीची किसानों के लिए मुर्गीपालन का कारोबार आर्थिक रूप से उन्हें और मजबूत कर रहा है। लीची किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए मुजफ्फरपुर स्थित राष्ट्रीय लीची अनुसंधान केंद्र ने दो वर्ष पहले लीची के बागों में ओपन मुर्गा फार्मिग करने की सलाह लीची किसानों को दी थी। इसका लाभ अब लीची किसानों को दिखने लगा है।

किसान अपने लीची बागों में अच्छी प्रजाति कड़कनाथ, वनराजा, शिप्रा जैसी मशहूर नस्लों का मुर्गी पालन कर रहे हैं, जिससे किसानों कि आर्थिक स्थिति अच्छी हो रही है।

मुजफ्फरपुर की रसभरी और लाल रंग की मिट्ठी लीची देश के राज्यों में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी निर्यात होती रही है, अब मुजफ्फरपुर के लीची किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए मुर्गी पालन किसानों के लिए एक अच्छी आमदनी का जरिया बन गया है।

लीची बागान में मुर्गा फामिर्ंग से लीची के पेड़ों को भी लाभ है। किसान बताते हैं कि मुर्गी पालन में लागत कम आती है, जबकि मुनाफा अच्छा होता है। मुजफ्फरपुर के लीची बागानों में देश के सर्वोत्तम देसी नस्लों के मुर्गों को पाला जा रहा है, जिसमें छत्तीसगढ़ के प्रसिद्ध कड़कनाथ, वनराजा और शिप्रा जैसे देसी मुर्गें शामिल हैं।

राष्ट्रीय लीची अनुसंधान केंद्र के निदेशक डॉ. शेषधर पाण्डेय की मानें तो इस पहल से लीची के उत्पादन को एक नई राह मिली है। उन्होंने बताया कि प्रारंभ में जब लीची किसानों को बगीचे में बकरी या मुर्गी पालन की सलाह दी गई थी तब प्रारंभ में तो इन किसानों को लाभ कम हुआ, लेकिन अब कई किसानों को इसका लाभ दिखने लगा है।

उन्होंने कहा, “इसके नतीजे अब काफी सकारात्मक आए, जिसके बाद अब संस्थान इसे लेकर जिले में लीची की बागवानी करने वाले किसानों को प्रशिक्षित कर रहा है। लीची के बगानों में देसी मुर्गों के ओपन फामिर्ंग की सबसे बड़ी खासियत यह है कि इसमें देसी मुर्गे और लीची के बाग दोनों एक दूसरे के लिए अनुपूरक का काम करते हैं।”

उन्होंने बताया कि लीची बगानों में इन देसी मुर्गों के विचरण से बगीचों में उर्वरक और कीटनाशकों के इस्तेमाल की जरूरत आधी से भी कम हो गई है। इनके बीट बगीचे के लिए काफी लाभदायक हैं जबकि ये कीटाणु को अपना भोजन बना लेते हैं।

उन्होंने हालांकि यह भी कहा कि जलजमाव या नमी वाले क्षेत्रों में मुर्गी पालन में समस्या आती है। खुली जगह में मुर्गों को प्राकृतिक वातावरण मिलता है, जिसमें उनकी ग्रोथ तेजी से होती है।

निदेशक पांडेय भी मानते हैं कि ठंड के मौसम में मांस और अंडों की मांग बढ जाती है, जिससे इन किसानों का लाभ भी बढ जाता है।

Continue Reading
Advertisement
अंतरराष्ट्रीय15 mins ago

टी10 लीग में ग्लेडियेटर्स ने आठ विकेट से जीता मैच

अंतरराष्ट्रीय17 mins ago

फुटबॉल : देर से किए गए गोल ने बार्सिलोना को दिलाई जीत

बॉलीवुड19 mins ago

अभिनेत्री भूमि पेडनेकर जेंडर-न्यूट्रल प्रदर्शन कला पुरस्कारों के समर्थन में बोलीं

बॉलीवुड21 mins ago

टाइगर श्रॉफ ने ‘गणपत’ के शेड्यूल के बीच की आइस स्केटिंग

राष्ट्रीय24 mins ago

दिवाली के बाद से डीजल, पेट्रोल की कीमतों में कोई बदलाव नहीं

अपराध28 mins ago

पिछले साल हर दिन लापता हुए यूपी के 5 बच्चे: आरटीआई

Minor-Rape
अपराध30 mins ago

नाबालिग से दुष्कर्म के आरोपी पर एनएसए के तहत केस दर्ज

अपराध33 mins ago

यूपी: गैस के गुब्बारों में विस्फोट होने से 4 बच्चे घायल

अपराध38 mins ago

दाऊद इब्राहिम की सांठगांठ से आतंकियों के हाथ लग सकता है पाक का परमाणु-हथियार

अपराध42 mins ago

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने शरजील इमाम को दी जमानत

राजनीति2 weeks ago

मरने के बाद मुझे दफनाया नहीं जाए, मेरा हो दाह-संस्कार : वसीम रिजवी

सामान्य3 weeks ago

त्रिपुरा में मुस्लिम विरोधी हिंसा को लेकर रज़ा अकादमी ने किया मुंबई बंद का ऐलान

महाराष्ट्र4 weeks ago

हज 2022 के लिए आवेदन आज से शुरू, पूरी प्रक्रिया होगी ऑनलाइन

source photo india tv
अपराध2 weeks ago

मालेगांव बंद के दौरान हिंसा की खबर, पुलिस ने किया बल का प्रयोग

महाराष्ट्र1 week ago

एनसीपी नेता नवाब मलिक ने समीर वानखेड़े को लेकर पेश किया और सबूत, कहा स्कूल के लीविंग सर्टिफिकेट में धर्म है मुस्लिम

राजनीति1 week ago

पीएम मोदी का बड़ा ऐलान- तीनों कृषि कानून वापस लेगी केंद्र सरकार

महाराष्ट्र3 weeks ago

भू-माफिया फराज मिस्त्री की अवैध बिल्डिंग से सैकड़ों लोगों की जान खतरे में, नगरसेविका आफरीन शेख और बीएमसी की साठगांठ पर उठ रहे सवाल?

अपराध3 weeks ago

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में अल्लामा इकबाल के पोस्टर पर विवाद, विरोध के बाद हटाई गई तस्वीर

महाराष्ट्र2 weeks ago

ड्रग्स मामले में नवाब मलिक ने शेयर किया गोसावी और काशिफ खान का चैट, कहा काशिफ ने क्यों नहीं हो रही है पूछताछ

महाराष्ट्र3 weeks ago

बीजेपी नेता आशीष शेलार का नवाब मलिक पर पलटवार, रियाज भाटी की तस्वीरें शरद पवार और सीएम उद्धव ठाकरे के साथ भी हैं..इसका जवाब कौन देगा?

अपराध2 years ago

झोमेटो की महिला ने गाड़ी उठा कर ले जाने पर ट्रैफिक पुलिस को दी गालियां

अपराध2 years ago

मुंबई के भायखला ई वार्ड में स्थित केएसए ग्रांड के 18वें फ्लोर से गिरी लिफ्ट, एक शख्स घायल

बॉलीवुड3 years ago

शाहरूख खान की आने वाली फिल्म जीरो का ट्रेलर इस दिन होगा रिलीज

बॉलीवुड3 years ago

पूर्व मिस यूनिवर्स सुष्मिता सेन का कभी देखा है इतना हॉट लुक

अपराध3 years ago

मुंबई लोकल से गिरी लड़की के खिलाफ आरपीएफ ने दर्ज किया केस

बॉलीवुड3 years ago

तनुश्री दत्ता के आरोपों पर अभिनेता नाना पाटेकर जल्द ही देंगे जवाब

मनोरंजन3 years ago

पीएम नरेंद्र मोदी ने शाहरूख खान को इस वजह से किया सैलूट

बॉलीवुड3 years ago

जानिए आखिर क्यों गोल्डन गर्ल आशा पारेख ने नहीं की शादी

अपराध3 years ago

मुंबई लोकल से गिरी लड़की की पहचान आई सामने, जानिए कौन है वो लड़की

अपराध3 years ago

देखिए मुंबई में हुए एक दर्दनांक हादसे का वीडियो

रुझान