Connect with us
Friday,17-September-2021
ताज़ा खबर

महाराष्ट्र

स्थानीय निकायों में OBC आरक्षण की मांग को लेकर महाराष्ट्र BJP का प्रदर्शन, देवेंद्र फडणवीस हिरासत में

Published

on

Fadnavis-arrest

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की महाराष्ट्र इकाई ने स्थानीय निकायों में अन्य पिछड़ा वर्गों (ओबीसी) के लिए आरक्षण बहाल करने की मांग को लेकर शनिवार को राज्यभर में ‘चक्का जाम’ किया। इस दौरान देवेंद्र फडणवीस समेत अन्य बीजेपी कार्यकर्ताओं को हिरासत में लेकर बाद में रिहा कर दिया गया। पार्टी ने पहले घोषणा की थी कि वह राज्य भर में 1,000 स्थानों पर विरोध प्रदर्शन करेगी। विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस ने अपने गृह जिले नागपुर में विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लिया, जबकि विधान परिषद में विपक्ष के नेता प्रवीण दारेकर ठाणे में प्रदर्शन में शामिल हुए। इन प्रदर्शनों के कारण ठाणे को मुंबई से जोड़ने वाला सड़का मार्ग कुछ देर के लिए बाधित हो गया।

देवेंद्र फडणवीस को हिरासत में लिया गया और बाद में रिहा कर दिया गया। पुणे में प्रदर्शन का नेतृत्व करने वाली पूर्व मंत्री पंकजा मुंडे ने कहा कि यदि भाजपा की मांग पूरी नहीं होती है, तो पार्टी भविष्य में और बड़े प्रदर्शन करेगी। पकंजा मुंडे ने आरोप लगाया कि राज्य में महा विकास आघाडी (एमवीए) सरकार ओबीसी के राजनीतिक आरक्षण को बरकरार रखने में नाकाम रही। मुंडे ने कहा, ‘सरकार ओबीसी आरक्षण को हासिल करने में नाकाम रही, जो कि समुदाय के उत्थान के लिए आवश्यक है।’

मुंडे ने आरोप लगाया कि जब ओबीसी आरक्षण संबंधी मामला अदालत में लंबित था, तब राज्य सरकार सहकारी क्षेत्र में चुनाव सहित विभिन्न चुनावों को टालती रही और अदालत ने जब आरक्षण समाप्त कर दिया, उसे बाद ही चुनावों की घोषणा की गई। उन्होंने कहा, ‘हम मांग कर रहे हैं कि ओबीसी आरक्षण बहाल किया जाए और तब तक कोई चुनाव नहीं होना चाहिए। हम चाहते हैं कि सरकार चुनाव स्थगित करने की मांग को लेकर हमारे साथ मिलकर चुनाव आयोग से संपर्क करे।’ पंकजा मुंडे ने कहा कि अगर ओबीसी आरक्षण के बिना चुनाव होते हैं, तो हम और बड़ा विरोध प्रदर्शन करेंगे। यह ‘चक्का जाम’ सिर्फ एक ट्रेलर है। एक अन्य भाजपा नेता और राज्य के पूर्व मंत्री गिरीश महाजन और विधायक मंगल प्रभात लोढ़ा ने इस मामले को लेकर मुंबई में राज्य सचिवालय ‘मंत्रालय’ के बाहर विरोध प्रदर्शन किया।

भाजपा-शिवसेना सरकार ने 2019 में स्थानीय निकायों में ओबीसी को राजनीतिक आरक्षण दिया था, लेकिन उच्चतम न्यायालय ने कहा कि महाराष्ट्र में संबंधित स्थानीय निकायों में ओबीसी के लिए आरक्षण, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति एवं ओबीसी के लिए आरक्षित कुल सीटों के 50 फीसदी से अधिक नहीं हो सकता। शीर्ष अदालत ने महाराष्ट्र जिला परिषद और पंचायत समिति अधिनियम 1961 के भाग 12 (2) (सी) की व्याख्या की थी। सुप्रीम कोर्ट ने ओबीसी के लिए संबंधित स्थानीय निकायों में सीटों का आरक्षण प्रदान करने की सीमा से संबंधित राज्य चुनाव आयोग की वर्ष 2018 और 2020 में जारी अधिसूचनाओं को रद्द कर दिया था। भाजपा का आरोप है कि एमवीए सरकार की निष्क्रियता के कारण यह आरक्षण रद्द हुआ। राज्य निर्वाचन आयोग (एसईसी) ने धुले, नंदुरबार, वाशिम, अकोला और नागपुर जिलों में उपचुनावों की घोषणा की है और जिला परिषद की 85 सीटें और 144 पंचायत समिति सीटों के लिए चुनाव होने जा रहे हैं। भाजपा ने शुक्रवार को मांग की कि राज्य सरकार उच्चतम न्यायालय का तत्काल रूख कर पांच जिलों में जिला परिषद उपचुनाव स्थगित करने का अनुरोध करे।

महाराष्ट्र

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उध्दव ठाकरे के इस बयान से आखिर बीजेपी क्यों इतरा रही है?

Published

on

महाराष्ट्र में कांग्रेस-एनसीपी के साथ शिवसेना की सरकार है जिसे हम महाविकास आघाड़ी सरकार का नाम देते हैं..हालाकि इस सरकार ने कोरोना प्रबंधन को लेकर काफी अच्छा काम किया है..जिसकी तारीफ केंद्र सरकार और उसके कई विभाग और मंत्री भी कर चुके हैं..

शायद इन्ही सब वजहों से शिवसेना और मुख्यमंत्री उध्दव ठाकरे का झुकाव अपने पुराने साथी बीजेपी की ओर हो जाता है…और सियासी गलियारे में अटकले शुरू हो जाती हैं कि शिवसेना और बीजेपी के बीच कुछ खिचड़ी पक रही है..एक बार फिर ऐसी ही सियासी हलचल शुरू हो रही है…दरअसल औरंगाबाद में एक कार्यक्रम में मौजूद रेल राज्यमंत्री राव साहेब दानवे की शान में मुख्यमंत्री ठाकरे ने कुछ कसीदे पढ़ दिए..जिसके बाद बीजेपी से नजदीकी की खबरे फिर से फैल गई..ठाकरे ने उस कार्यक्रम में पुराने संबंधों का हवाला देकर मुंबई से नागपुर बुलेट ट्रेन परियोजना को लेकर रेल राज्य मंत्री से अनुरोध किया…

मुख्यमंत्री के दानवे साहेब के प्रति इस नजरिए ने नई सियासी हलचल शुरू कर दी..जिसे महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने प्रतिक्रिया देते हुए उध्दव ठाकरे के इस बयान का सम्मान किया लेकिन साफ-साफ ये भी बता दिया कि बीजेपी राज्य में विपक्षी पार्टी के रूप में ही जनता की सेवा करेंगी…

राज्य में कभी कभी कांग्रेस-एनसीपी के रवैये से ठाकरे सरकार की स्पीड़ कम हो जाती है..सरकार में शामिल कोई भी दल हालाकि खुले रूप से इसे स्वीकार नहीं करता लेकिन विचारधारा को लेकर कहीं न कहीं तीनों दलों में असहमति नजर आती है…

Continue Reading

महाराष्ट्र

महाराष्ट्र के मंत्री ने गावस्कर से इस्तेमाल नहीं की गई प्लॉट का उपयोग करने को कहा

Published

on

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के एक वरिष्ठ मंत्री ने क्रिकेट के दिग्गज सुनील गावस्कर को तीन दशक पहले आवंटित जमीन पर क्रिकेट अकादमी विकसित नहीं करने के लिए वर्चुअली ‘चेतावनी’ जारी की है। आवास मंत्री डॉ जितेंद्र आव्हाड ने बुधवार की देर रात बांद्रा पूर्व क्षेत्र में खाली 2000 वर्ग मीटर के प्लॉट पर गावस्कर को व्यावहारिक रूप से फटकार लगाई, जिसे 1986 में क्रिकेट के साथ साथ खेल प्रशिक्षण अकादमी शुरू करने के लिए आवंटित किया गया था।

अधिकारियों ने कहा कि मुख्य भूमि ‘सुनील गावस्कर क्रिकेट फाउंडेशन ट्रस्ट’ को निर्धारित अवधि के भीतर क्रिकेट/खेल अकादमी के निर्माण के उद्देश्य से दी गई थी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ है।

बुधवार को, डॉ आव्हाड ने कहा कि उन्होंने आवंटन को रद्द करने का लगभग फैसला कर लिया था, लेकिन गावस्कर का नाम प्लॉट से जुड़ा होने के कारण उन्होंने परहेज किया।

आव्हाड ने सख्ती से कहा, “अगर यह सुनील गावस्कर नहीं होते, तो आवास मंत्री के रूप में मैंने आवंटन रद्द कर दिया होता। अब कम से कम उन्हें भूखंड से सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना चाहिए।”

फिर, अपने स्वर को नरम करते हुए, उन्होंने कहा, “मैं वह हूं जो गावस्कर में भगवान (देखता) मानता था। वह दिन नहीं भूल सकता जब वह फिलिप डेफ्रीटास द्वारा क्लीन बोल्ड किये गये थे और मैं रोते हुए स्टेडियम से निकला था।”

शिवसेना नेता और मुंबई बिल्डिंग रिपेयर एंड रिकंस्ट्रक्शन बोर्ड के अध्यक्ष विनोद घोसालकर ने कहा कि मानदंडों के अनुसार, विशिष्ट उद्देश्यों के लिए आवंटित ऐसे सभी प्लॉट तीन साल के भीतर बनाए जाने चाहिए और आवंटी को भूमि पर सभी प्रासंगिक करों का भुगतान करना होगा।

घोसालकर ने आईएएनएस को विस्तार से बताया, “विभिन्न मामलों में देरी हो सकती है, इसलिए आवेदक समय अवधि के विस्तार की मांग कर सकते हैं और इसे परियोजना के आधार पर दिया जा सकता है, 30 साल एक लंबी अवधि है।”

आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि सार्वजनिक कारणों के लिए फिल्मी सितारों, खिलाड़ियों, गैर सरकारी संगठनों, धर्मार्थ संगठनों आदि जैसे सेलेब्स को ऐसे कई प्लॉट दिए गए हैं और कई बार उन्हें इच्छित उद्देश्यों के लिए बनाने में देरी होती है।

कुछ साल पहले, भारतीय जनता पार्टी की सांसद हेमा मालिनी ने ओशिवारा में 2000 वर्ग मीटर का प्लॉट लौटाया था, जबकि आईपीएल के पूर्व अध्यक्ष और कांग्रेस के पूर्व सांसद राजीव शुक्ला ने भी अंधेरी में एक प्लॉट लौटाया था, दोनों ही उन्हें बनाने में असमर्थ थे।

इस बीच, गावस्कर, जो लंदन में हैं, उन्होंने अभी तक मंत्री अवध के खाली प्लॉट से संबंधित बयान पर प्रतिक्रिया नहीं दी है।

Continue Reading

महाराष्ट्र

महाराष्ट्र सरकार OBC आरक्षण बहाल करने के लिए लाएगी अध्यादेश

Published

on

राज्य भर में बीजेपी के आंदोलन के बीच महाराष्ट्र के मंत्री और एनसीपी नेता छगन भुजबल ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार निकाय चुनावों में ओबीसी आरक्षण बहाल करने के लिए अध्यादेश जारी करेगी..लेकिन ये 50% आरक्षण सीमा को पार नहीं करेगा.. इस अध्यादेश को आंध्र प्रदेश और तेलंगाना सरकार के फैसले की तर्ज पर जारी किया जाएगा..

दरअसल दो दिन पहले बॉम्बे हाईकोर्ट में इस मुद्दे पर सुनवाई हुई थी.. उस दौरान कोर्ट ने राज्य सरकार को चुनाव करवाने का निर्देश देते हुए कहा था कि ओबीसी आरक्षण के मुद्दे पर राज्य के चुनाव स्थगित नहीं किए जा सकते.. इस फैसले के बाद महाराष्ट्र कैबिनेट की बैठक हुई.. जिसमें अध्यादेश जारी करने का फैसला हुआ है..

Continue Reading
Advertisement
अपराध2 hours ago

बिहार में करमा पर्व पर नदी में स्नान करने गई 3 बच्चियों की डूबने से मौत

राजनीति2 hours ago

दोपहर तक 1 करोड़ से अधिक खुराक के साथ, भारत ने बनाया नया रिकॉर्ड

अंतरराष्ट्रीय3 hours ago

मोरेटोरियम के दौरान वोडाफोन आइडिया इक्विटी रूपांतरण का चुनेगी विकल्प

बॉलीवुड3 hours ago

‘नो लैंड्स मैन’ दुनिया के सामने आने वाले मुद्दों पर एक व्यंग्य है : नवाजुद्दीन सिद्दीकी

बॉलीवुड3 hours ago

रकुल प्रीत सिंह ने ‘डॉक्टर जी’ के लिए अटेंड की मेडिकल कक्षाएं

बॉलीवुड3 hours ago

अजय देवगन का विज्ञापन के शूट के लिए आनंद महिंद्रा को ‘थैंक्यू’

अंतरराष्ट्रीय3 hours ago

टीम से जुड़कर और अभ्यास करके अच्छा लग रहा है: सूर्याकुमार यादव

अंतरराष्ट्रीय3 hours ago

पीसीबी ने अंतिम समय में दौरा रद्द करने को लेकर न्यूजीलैंड को आड़े हाथों लिया

अंतरराष्ट्रीय3 hours ago

महिला क्रिकेट: दक्षिण अफ्रीका ने वेस्टइंडीज को हराया, सीरीज में बनाई 4-0 की बढ़त

अंतरराष्ट्रीय3 hours ago

अगले महीने होने वाले इंग्लैंड के पाकिस्तान दौरे पर संशय

बॉलीवुड2 weeks ago

सलमान खान और कैटरीना कैफ ने तुर्की के मंत्री से की मुलाकात

सामान्य3 weeks ago

मुंबई में कोरोना वैक्सीन का दोनों डोज लेने वाले भी कोरोना संक्रमित, लेकिन मृत्यु दर है शून्य

महाराष्ट्र1 week ago

महाराष्ट्र में ऊर्जा मंत्री नितिन राऊत का बड़ा बयान, आ गई है कोरोना की तीसरी लहर!

अपराध1 week ago

मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट किया जारी

बॉलीवुड1 week ago

कंगना रनौत ने महाराष्ट्र सरकार से की थिएटर खोलने की अपील की

बॉलीवुड1 week ago

अभिनेता रजत बेदी के खिलाफ मुंबई में क्यों हुआ मामला दर्ज?

बॉलीवुड1 week ago

अभिनेता अक्षय कुमार के जन्मदिन से ठीक एक दिन पहले हुआ उनकी मां का निधन

अपराध1 week ago

NIA की जांच में बड़ा खुलासा, सचिन वाजे ने अंबानी और दूसरे अमीर हस्तियों को डराने-धमकाने की कोशिश की

अपराध1 week ago

वैश्विक कोविड -19 मामले 22.18 करोड़ से ज्यादा

राजनीति1 week ago

जावेद अख्तर के बाद अब दिग्विजय सिंह ने आरएसएस की तुलना तालिबान से की

अपराध2 years ago

झोमेटो की महिला ने गाड़ी उठा कर ले जाने पर ट्रैफिक पुलिस को दी गालियां

अपराध2 years ago

मुंबई के भायखला ई वार्ड में स्थित केएसए ग्रांड के 18वें फ्लोर से गिरी लिफ्ट, एक शख्स घायल

बॉलीवुड3 years ago

शाहरूख खान की आने वाली फिल्म जीरो का ट्रेलर इस दिन होगा रिलीज

बॉलीवुड3 years ago

पूर्व मिस यूनिवर्स सुष्मिता सेन का कभी देखा है इतना हॉट लुक

अपराध3 years ago

मुंबई लोकल से गिरी लड़की के खिलाफ आरपीएफ ने दर्ज किया केस

बॉलीवुड3 years ago

तनुश्री दत्ता के आरोपों पर अभिनेता नाना पाटेकर जल्द ही देंगे जवाब

मनोरंजन3 years ago

पीएम नरेंद्र मोदी ने शाहरूख खान को इस वजह से किया सैलूट

बॉलीवुड3 years ago

जानिए आखिर क्यों गोल्डन गर्ल आशा पारेख ने नहीं की शादी

अपराध3 years ago

मुंबई लोकल से गिरी लड़की की पहचान आई सामने, जानिए कौन है वो लड़की

अपराध3 years ago

देखिए मुंबई में हुए एक दर्दनांक हादसे का वीडियो

रुझान