Connect with us
Sunday,05-December-2021

अंतरराष्ट्रीय समाचार

जापान के प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा ने पदभार ग्रहण करने के बाद पहला भाषण दिया

Published

on

जापान के नवनिर्वाचित प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा ने शुक्रवार को अपना पहला नीतिगत भाषण दिया, जिसमें उन्होंने अपने “पूंजीवाद के नए रूप” के साथ देश के लिए आर्थिक विकास तक पहुंचने और उस सफलता के लिए पुनर्वितरित करने का संकल्प लिया। किशिदा ने कहा, ” जब हम विकास के फल को ठीक से वितरित करते हैं, तो हम और अधिक विकास का एहसास कर पाएंगे। नवउदारवादी नीतियों ने अमीर और गरीब के बीच गहरी दरार का कारण बना दिया है।”

आर्थिक नीतियों पर किशिदा ने कहा कि उनकी सरकार आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस जैसे अत्याधुनिक क्षेत्रों में निवेश करेगी और प्रौद्योगिकी के रिसाव को रोकने के लिए कानून बनाएगी।

किशिदा ने वेतन बढ़ाने वाली कंपनियों के लिए कर प्रोत्साहन लागू करने का भी वादा किया।

इस बीच, प्रधान मंत्री ने भारी मौद्रिक सहजता और राजकोषीय खर्च के माध्यम से अपस्फीति को दूर करने की कसम खाई।

कोविड -19 महामारी के बारे में, किशिदा ने बूस्टर शॉट्स और चिकित्सा उपचार के लिए पूरी तरह से तैयार होने का वादा किया, और उन्होंने सरकार के लिए आंदोलन पर प्रतिबंध लगाना और भविष्य में संक्रमण की लहरों के होने पर चिकित्सा संसाधनों को सुरक्षित करना आसान बनाने के लिए कानून का भी उल्लेख किया।

जहां तक संवैधानिक संशोधन का सवाल है, उन्होंने कहा कि वह संसद में रचनात्मक बहस और आगे के रास्ते पर अधिक सार्वजनिक चर्चा की उम्मीद करेंगे।

सत्तारूढ़ लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी ने चार संशोधनों का एक सेट प्रस्तावित किया है जैसे कि कैबिनेट को राष्ट्रीय संकट के दौरान आपातकालीन शक्तियों का इस्तेमाल करने की क्षमता प्रदान करना।

इसके अलावा, किशिदा ने कहा कि जापान, युद्ध में परमाणु बम की चपेट में आने वाले एकमात्र देश के रूप में, परमाणु हथियार वाले राज्यों और गैर-परमाणु हथियारों वाले राज्यों के बीच एक सेतु के रूप में काम करेगा।

अंतरराष्ट्रीय समाचार

भारत ने ओमिक्रॉन प्रभावित देशों को टीके, अन्य सहायता देने की पेशकश की

Published

on

भारत सरकार ने सोमवार को अफ्रीका में नए कोविड वेरिएंट ‘ओमिक्रोन’ की चपेट में आने वाले देशों को ‘मेड इन इंडिया’ वैक्सीन आपूर्ति और अन्य मदद की पेशकश की है। केंद्रीय विदेश मंत्रालय ने कहा, “भारत सरकार ‘मेड इन इंडिया’ टीकों की आपूर्ति सहित ओमिक्रॉन वेरिएंट से निपटने में अफ्रीका में प्रभावित देशों का समर्थन करने के लिए तैयार है। आपूर्ति कोवैक्स या द्विपक्षीय रूप से की जा सकती है।

विदेश मंत्रालय ने कहा कि इस संबंध में केंद्र सरकार ने कोवेक्स द्वारा कोविशील्ड टीकों की आपूर्ति के लिए अब तक दिए गए सभी आदेशों को मंजूरी दे दी है, जिसमें मलावी, इथियोपिया, जाम्बिया, मोजाम्बिक, गिनी और लेसोथो जैसे अफ्रीकी देश शामिल हैं।

मंत्रालय ने एक बयान में कहा, “हमने बोत्सवाना को कोवैक्सिन की आपूर्ति को भी मंजूरी दे दी है। द्विपक्षीय रूप से या कोवैक्स के माध्यम से किसी भी नई आवश्यकता पर तेजी से विचार किया जाएगा।”

भारतीय संस्थान अपने अफ्रीकी समकक्षों के साथ जीनोमिक निगरानी और वायरस लक्षण-संबंधी अनुसंधान कार्य में सहयोग पर अनुकूल रूप से विचार करेंगे।

केंद्र सरकार ने अब तक अफ्रीका के 41 देशों को मेड इन इंडिया टीकों की 25 मिलियन से अधिक खुराक की आपूर्ति की है, जिसमें 16 देशों को अनुदान के रूप में लगभग एक मिलियन खुराक और 33 देशों को कोवैक्स सुविधा के तहत 16 मिलियन से अधिक खुराक शामिल हैं।

नए कोविड वेरिएंट ओमाइक्रोन को पहली बार 24 नवंबर, 2021 को दक्षिण अफ्रीका से विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) को सूचित किया गया था।

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय समाचार

भारत ने त्रिपक्षीय बैठक के दौरान रूस, चीन से कहा: पाक-आधारित आतंकी संगठनों द्वारा अफगान क्षेत्र का उपयोग नहीं किया जाना चाहिए

Published

on

 भारत ने रूस और चीन से कहा कि लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद जैसे पाकिस्तान स्थित आतंकवादी समूहों द्वारा अफगान क्षेत्र का इस्तेमाल आतंकी गतिविधियों के लिए नहीं किया जाना चाहिए। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने यह बात रूस-भारत-चीन (आरआईसी) त्रिपक्षीय ढांचे की 18 वीं बैठक की अध्यक्षता के दौरान रखा, जो शुक्रवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग पर हुई, जिसमें रूस और चीन के विदेश मंत्रियों सेर्गेई लावरोव और वांग यी ने भी भाग लिया।

जयशंकर ने अफगानिस्तान में समावेशी और प्रतिनिधि सरकार होने पर भारत के रुख को दोहराते हुए कहा, “आरआईसी देशों के लिए आतंकवाद, कट्टरपंथ, मादक पदार्थों की तस्करी आदि के खतरों पर संबंधित ²ष्टिकोणों का समन्वय करना आवश्यक है।”

मंत्री ने मास्को और बीजिंग के अपने दो समकक्षों को बताया कि, अफगान लोगों की भलाई के लिए भारत की प्रतिबद्धता के अनुरूप, नई दिल्ली ने देश में सूखे की स्थिति से निपटने के लिए अफगानिस्तान को 50,000 मीट्रिक टन गेहूं की आपूर्ति की पेशकश की थी।

हालांकि, मानवीय पहल में रुकावट आ गई थी, क्योंकि बुधवार तक पाकिस्तान इस खेप को अपने क्षेत्र से गुजरने की अनुमति देने के लिए प्रतिबद्ध नहीं था।

जयशंकर ने आज कहा, “आरआईसी देशों को यह सुनिश्चित करने के लिए मिलकर काम करने की जरूरत है कि मानवीय सहायता बिना किसी रुकावट और राजनीतिकरण के अफगान लोगों तक पहुंचे। एक निकट पड़ोसी और अफगानिस्तान के लंबे समय से साथी के रूप में, भारत उस देश में हाल के घटनाक्रमों, विशेष रूप से अफगान लोगों की पीड़ा के बारे में चिंतित है।”

तीनों मंत्रियों ने इस बात पर सहमति जताई कि आरआईसी देशों के बीच सहयोग न केवल उनके अपने विकास में बल्कि वैश्विक शांति, सुरक्षा, स्थिरता में भी योगदान देगा।

जयशंकर ने अपने संबोधन में, आरआईसी तंत्र के तहत यूरेशियन क्षेत्र के तीन सबसे बड़े देशों के बीच घनिष्ठ संवाद और सहयोग को बढ़ावा देने के लिए भारत की निरंतर प्रतिबद्धता की भी पुष्टि की।

उन्होंने कहा, “मेरा मानना है कि व्यापार, निवेश, स्वास्थ्य सेवा, शिक्षा, विज्ञान और प्रौद्योगिकी और राजनीति आदि क्षेत्रों में हमारा सहयोग वैश्विक विकास, शांति और स्थिरता में महत्वपूर्ण योगदान दे सकता है।”

शुक्रवार की बैठक के दौरान नए कोरोनावायरस संक्रमण की महामारी के परिणामों पर काबू पाने पर भी विशेष ध्यान दिया गया।

बैठक के बाद जयशंकर ने ट्वीट किया, “कोविड -19 महामारी ने हमें अधिक विश्वसनीय वैश्विक आपूर्ति चेन की आवश्यकता के प्रति सचेत किया है, विशेष रूप से स्वास्थ्य में। आरआईसी देशों को एक-दूसरे द्वारा जारी टीकाकरण प्रमाणपत्रों को पहचानना चाहिए। दुनिया को अनुचित और अवैज्ञानिक यात्रा प्रतिबंधों से बचना चाहिए।”

बाद में जारी संयुक्त बयान में, तीनों देशों ने अफगानिस्तान और क्षेत्र में स्थायी शांति के लिए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद द्वारा प्रतिबंधित आतंकवादी समूहों जैसे अल-कायदा, आईएसआईएल और अन्य के तत्काल उन्मूलन की आवश्यकता पर बल दिया।

तालिबान से अफगानिस्तान पर बातचीत के सभी हाल ही में आयोजित अंतरराष्ट्रीयऔर क्षेत्रीय प्रारूपों के परिणामों के अनुसार कार्रवाई करने का आह्वान करते हुए, उन्होंने यह सुनिश्चित करने के महत्व की पुष्टि की कि अफगानिस्तान के क्षेत्र का उपयोग किसी अन्य देश को धमकी देने या हमला करने के लिए नहीं किया जाना चाहिए।

तीनों मंत्रियों ने अफगानिस्तान और उसके बाहर से अफीम और मेथामफेटामाइन में अवैध मादक पदार्थों की तस्करी के प्रसार का मुकाबला करने के लिए अपना ²ढ़ संकल्प भी व्यक्त किया, जो क्षेत्रीय सुरक्षा और स्थिरता के लिए एक गंभीर खतरा है और आतंकवादी संगठनों के लिए धन प्रदान करता है।

रूस ने कहा कि विचारों के आदान-प्रदान ने अंतरराष्ट्रीय सहयोग की बहुपक्षीय नींव को मजबूत करने के साथ-साथ हमारे समय की दबाव की समस्याओं को हल करने के ²ष्टिकोण के संबंध में तीन देशों की स्थिति की समानता की पुष्टि की।

रूसी विदेश मंत्रालय ने कहा, “वार्ता के दौरान, (जो एक रचनात्मक माहौल में हुई) वैश्विक और क्षेत्रीय एजेंडे के प्रमुख मुद्दों पर विचार किया गया। मुख्य रूप से संयुक्त राष्ट्र, जी20, एससीओ, ब्रिक्स में बहुपक्षीय संगठनों और संघों के ढांचे के भीतर बातचीत का विस्तार करने के लिए एक समवर्ती स्वभाव व्यक्त किया गया था।”

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय समाचार

आईपीयू की 143वीं असेम्बली बैठक, भारत के पास है बाल यौन शोषण और दुर्व्यवहार से निपटने के उपाय : दीया कुमारी

Published

on

अंतर-संसदीय संघ आईपीयू की 143वीं असेम्बली बैठक में बाल यौन शोषण और दुर्व्यवहार से जुड़े मुद्दे पर भारतीय महिला संसदों के दल ने हिस्सा लिया। स्पेन के मैड्रिड में आईपीयू की 143वीं असेंबली के दौरान आयोजित महिला सांसद पूनम बेन मादाम और दीयाकुमारी के फोरम के 32वें सत्र को संबोधित किया।

इस दौरान सांसद दीयाकुमारी ने कहा कि जहां सूचना और संचार प्रौद्योगिकी (आईसीटी) अवसरों के नए रास्ते खोलती है, वहीं वे बच्चों के यौन शोषण और दुर्व्यवहार सहित चुनौतियों, खतरों और हिंसा के नए रूपों को भी जन्म देती हैं। भारत में ऑनलाइन बाल यौन शोषण और दुर्व्यवहार से निपटने के लिए कड़े उपाय हैं।

सांसद दीया ने कहा कि भारत ने वर्ष 2000 में सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम बनाया था और समय-समय पर इसमें संशोधन किया है। यह अश्लील सामग्री को इलेक्ट्रॉनिक रूप में प्रकाशित करने और प्रसारित करने पर रोक लगाता है और अधिनियम के विभिन्न वर्गों में उल्लंघन के लिए दंडात्मक प्रावधान भी निर्धारित करता है। उन्होंने आईटी इंटरमीडियरीज गाइडलाइंस रूल्स, 2011 के साथ-साथ पॉक्सो एक्ट पर भी विचार व्यक्त किये।

भारतीय दल ने कहा कि केवल कानूनी प्रावधान और उनका सख्ती से क्रियान्वयन ही काफी नहीं है, ऑनलाइन यौन शोषण से बच्चों को बचाने के लिए विशेष नीतियों की आवश्यकता है।

सांसदों ने लड़कियों और लड़कों की विभिन्न जरूरतों को समझने के महत्व पर भी विस्तार से बताया। इन चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में युवा लड़कियों की अनूठी स्थिति के प्रति हमारा ²ष्टिकोण संवेदनशील होना चाहिए। बच्चों के साथ-साथ उनके माता-पिता तथा घर और स्कूलों दोनों जगह पर जागरूकता पैदा की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि अ²श्य दुश्मन से उनकी रक्षा के लिए नए सहयोगी ²ष्टिकोण तैयार किए जाने चाहिए।

बैठक से पूर्व भारतीय राजदूत द्वारा आयोजित शिष्टाचार भोज में भी दोनों सांसद शामिल हुईं। इस दौरान अंतर-संसदीय संघ आईपीयू की 143वीं असेम्बली बैठक के लिए स्पेन पहुंची सांसद दीयाकुमारी के साथ ही भारतीय संसदीय दल के स्वागत में भारतीय राजदूत संजय वर्मा एवं संगीता माता वर्मा के द्वारा असेम्बली बैठक से पूर्व शिष्टाचार रात्रि भोज आयोजित किया गया।

भारतीय दल में सांसद दीयाकुमारी, भर्तुहरी महताब, संजय जायसवाल, पूनम बेन मादाम, विष्णु दयाल राम एवं शश्मित पात्रा भी मौजूद रहे।

गौरतलब है कि अंतर-संसदीय संघ राष्ट्रीय संसदों का एक अंतरराष्ट्रीय संगठन है। इसका मूल उद्देश्य अपने सदस्य देशों के मध्य लोकतांत्रिक शासन, जवाबदेही और सहयोग को बढ़ावा देना है। अन्य मामलों में विधायिकाओं के बीच लैंगिक समानता को आगे बढ़ाना, राजनीतिक क्षेत्र में युवाओं की भागीदारी को सशक्त बनाना और सतत विकास कार्य शामिल हैं।

Continue Reading
Advertisement
अपराध16 hours ago

जबरन वसूली मामला: मुंबई पुलिस ने परमबीर सिंह, अन्य के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की

राजनीति16 hours ago

बाबा विश्वनाथ और रामलला के दरबार में अखिलेश मांगे माफी : स्वतंत्र देव

अनन्य17 hours ago

महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में भी कोरोना वायरस के ओमिक्रॉन वेरिएंट ने दी दस्तक

सामान्य18 hours ago

दिग्गज पत्रकार विनोद दुआ का निधन

बॉलीवुड18 hours ago

अनुराधा पौडवाल ने ‘साजन’ से लेकर ‘बहुत प्यार करते हैं’ की रिकॉर्डिंग के दिनों को किया याद

मनोरंजन19 hours ago

दिग्गज कन्नड़ अभिनेता शिवराम का निधन

मनोरंजन19 hours ago

चियान विक्रम, बेटे ध्रुव विक्रम ने ‘महान’ की डबिंग पूरी की

अंतरराष्ट्रीय19 hours ago

भारत बनाम न्यूजीलैंड दूसरा टेस्ट : दूसरे दिन भारत ने बिना विकेट खोए बनाए 69 रन

राजनीति19 hours ago

कोविड महामारी में अनाथ हुए बचे को मिलेगी 10 लाख की सहायता : डब्ल्यूसीडी

राजनीति19 hours ago

भूपेश बघेल ने 10 जनपथ पर की प्रियंका गांधी से मुलाकात

राजनीति3 weeks ago

मरने के बाद मुझे दफनाया नहीं जाए, मेरा हो दाह-संस्कार : वसीम रिजवी

सामान्य4 weeks ago

त्रिपुरा में मुस्लिम विरोधी हिंसा को लेकर रज़ा अकादमी ने किया मुंबई बंद का ऐलान

source photo india tv
अपराध3 weeks ago

मालेगांव बंद के दौरान हिंसा की खबर, पुलिस ने किया बल का प्रयोग

महाराष्ट्र1 week ago

कोरोना के नये वेरियंट ओमिक्रॉन की आहट से सरकारें सतर्क, महाराष्ट्र में सरकार ने लागू की नई कोरोना गाइडलाइन्स

राजनीति2 weeks ago

पीएम मोदी का बड़ा ऐलान- तीनों कृषि कानून वापस लेगी केंद्र सरकार

महाराष्ट्र1 week ago

महाराष्ट्र में एक दिसंबर से स्कूल फिर से खुलेंगे, शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने की घोषणा

महाराष्ट्र2 weeks ago

एनसीपी नेता नवाब मलिक ने समीर वानखेड़े को लेकर पेश किया और सबूत, कहा स्कूल के लीविंग सर्टिफिकेट में धर्म है मुस्लिम

सामान्य4 days ago

मुंबई में बारिश से मौसम हुआ सुहाना, मौसम विभाग ने जारी किया यलो अलर्ट

महाराष्ट्र4 weeks ago

बीजेपी नेता आशीष शेलार का नवाब मलिक पर पलटवार, रियाज भाटी की तस्वीरें शरद पवार और सीएम उद्धव ठाकरे के साथ भी हैं..इसका जवाब कौन देगा?

अपराध4 weeks ago

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में अल्लामा इकबाल के पोस्टर पर विवाद, विरोध के बाद हटाई गई तस्वीर

अपराध2 years ago

झोमेटो की महिला ने गाड़ी उठा कर ले जाने पर ट्रैफिक पुलिस को दी गालियां

अपराध2 years ago

मुंबई के भायखला ई वार्ड में स्थित केएसए ग्रांड के 18वें फ्लोर से गिरी लिफ्ट, एक शख्स घायल

बॉलीवुड3 years ago

शाहरूख खान की आने वाली फिल्म जीरो का ट्रेलर इस दिन होगा रिलीज

बॉलीवुड3 years ago

पूर्व मिस यूनिवर्स सुष्मिता सेन का कभी देखा है इतना हॉट लुक

अपराध3 years ago

मुंबई लोकल से गिरी लड़की के खिलाफ आरपीएफ ने दर्ज किया केस

बॉलीवुड3 years ago

तनुश्री दत्ता के आरोपों पर अभिनेता नाना पाटेकर जल्द ही देंगे जवाब

मनोरंजन3 years ago

पीएम नरेंद्र मोदी ने शाहरूख खान को इस वजह से किया सैलूट

बॉलीवुड3 years ago

जानिए आखिर क्यों गोल्डन गर्ल आशा पारेख ने नहीं की शादी

अपराध3 years ago

मुंबई लोकल से गिरी लड़की की पहचान आई सामने, जानिए कौन है वो लड़की

अपराध3 years ago

देखिए मुंबई में हुए एक दर्दनांक हादसे का वीडियो

रुझान