Connect with us
Sunday,23-January-2022

राजनीति

आप नेता संजय सिंह ने योगी सरकार पर जातिगत भेदभाव का आरोप लगाया

Published

on

 आम आदमी पार्टी (आप) के नेता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने शनिवार को प्रयागराज पीड़ितों के परिवार से बात नहीं करने के लिए योगी आदित्यनाथ सरकार पर निशाना साधा और उन पर जातिगत भेदभाव का आरोप लगाया।

प्रयागराज की घटना पर, सिंह ने एक ऑडियो संदेश में कहा, 24 नवंबर को उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में जो कुछ भी हुआ वह हाथरस की घटना से भी अधिक भीषण है। यह शर्म की बात है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शोक संतप्त परिवार से बात नहीं की है। यह दिखाता है कि उत्तर प्रदेश सरकार जातिगत भेदभाव करती है और उसका समर्थन करती है।

अनुसूचित जाति के एक परिवार के चार सदस्य – एक व्यक्ति (50), उसकी पत्नी (45), उनकी बेटी (16) और बोलने में अक्षम पुत्र (10) – की 25 नवंबर को उनके घर पर हत्या कर दी गई थी।

परिवार के सदस्यों ने आशंका जताई है कि लड़की की मौत से पहले उसके साथ दुष्कर्म किया गया होगा। उन्होंने एक पड़ोसी उच्च जाति के परिवार पर इस भीषण अपराध का आरोप लगाया है।

आप नेता ने कहा, यह जघन्य अपराध ऐसे समय में हुआ है, जब भाजपा पूरे देश में संविधान दिवस मना रही है। अगर पार्टी ने संविधान के मूल्यों को गंभीरता से लिया होता, तो समाज के सबसे वंचित वर्ग के अंतिम व्यक्ति को इतनी मुश्किल घड़ी का सामना नहीं करना पड़ता।

सिंह ने कहा, मैं उनके पूरे परिवार से मिला। मृतक का भाई सेना में सेवा करता है। वह देश की सेवा कर रहा है। यहां तक कि उनकी पत्नी ने भी कहा कि वह वहां असुरक्षित महसूस करती है। यह सब पुलिस की लापरवाही और योगी आदित्यनाथ के शासन में गुंडाराज के कारण हुआ है। उन्होंने कहा, इस परिवार को 2019 से उनके पड़ोसियों द्वारा परेशान किया जा रहा था। उन्होंने प्राथमिकी दर्ज कराई थी, लेकिन पुलिस ने उनकी मदद नहीं की।

उन्होंने कहा, 2020 में, वे फिर से मदद के लिए पुलिस के पास गए, लेकिन अपराधियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई और 24 नवंबर को, उन्हें इतनी वीभत्स तरीके से मार दिया गया। हंगामे के बाद, पुलिस ने 11 नामजद लोगों के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म और हत्या सहित कई आरोपों में प्राथमिकी दर्ज की है, जिनमें से अब तक आठ को गिरफ्तार किया जा चुका है।

पुलिस के अनुसार, परिवार पर हमला करने के लिए किसी धारदार हथियार का इस्तेमाल किया गया होगा, क्योंकि उनके शरीर पर गंभीर चोटें थीं।

लड़की का शव घर के अंदर एक कमरे में मिला था, जबकि अन्य तीन शव आंगन में एक साथ मिले थे।

प्रयागराज पुलिस प्रमुख ने मीडिया को बताया, कुछ लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने शुक्रवार को पीड़ित परिवार के सदस्यों से मुलाकात की थी।

राजनीति

चुनाव आयोग ने शारीरिक रैलियों, रोड शो पर रोक 31 जनवरी तक बढ़ाई

Published

on

भारत निर्वाचन आयोग (ईसीआई) ने कोरोना संकट को देखते हुए शारीरिक (फिजिकल) रैलियों और रोड शो पर लगे प्रतिबंध को 31 जनवरी, 2022 तक बढ़ा दिया है।

ईसीआई के अनुसार, पहले चरण के चुनाव के लिए राजनीतिक दलों या चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों की शारीरिक सार्वजनिक बैठकों के लिए 28 जनवरी, 2022 से और दूसरे चरण के लिए 1 फरवरी 2022 से छूट दी गई है।

चुनाव आयोग ने घर-घर जाकर (डोर-टू-डोर) प्रचार अभियान पर नए दिशानिर्देश जारी किए हैं। अब डोर टू डोर कंपेन में पांच की जगह दस लोग शामिल हो सकेंगे। कोविड-19 के पालन के साथ सार्वजनिक स्थानों पर वीडियो वैन की भी इजाजत दे दी गई है।

प्रचार के लिए वीडियो वैन को कोविड प्रतिबंधों के साथ निर्दिष्ट खुले स्थानों पर अनुमति दी गई है, लेकिन 31 जनवरी तक किसी रोड शो, पद-यात्रा, साइकिल/बाइक/वाहन रैली की अनुमति नहीं है और इस दौरान कोई जुलूस नहीं निकाला जाएगा।

हालांकि, पहले और दूसरे चरण के उम्मीदवारों को राहत देते हुए सभा 500 लोगों की सीमा तक करने की अनुमति दी गई है। साथ ही आयोग ने राज्यों को कोविड और आदर्श आचार संहिता का सख्ती से पालन कराने का भी निर्देश दिया है। इससे पहले आयोग ने राजनीतिक दलों को इंडोर मीटिंग के लिए 300 लोग अधिकतम या हॉल की 50 फीसदी कैपिसिटी तक छूट दी थी। इससे पहले आयोग ने बड़ी रैलियों और रोड शो पर रोक 22 जनवरी तक लगाई थी।

पहले चरण यानी 10 फरवरी को वोटिंग वाले क्षेत्रों में उम्मीदवारों को 28 जनवरी से खुली जगह में अधिकतम 500 लोगों की भीड़ वाली रैली करने की इजाजत होगी। अगर मैदान की क्षमता एक हजार से कम लोगों की हो तो सिर्फ उसकी आधी क्षमता में ही लोगों को इजाजत होगी। पहले चरण में किन उम्मीदवारों का पर्चा निरस्त होगा और किसका स्वीकार होगा, ये 27 जनवरी को तय होना है।

आयोग ने सार्वजनिक सुविधा के अधीन मतदान वाले राज्यों में अधिकतम 500 व्यूवर्स या क्षमता के 50 प्रतिशत या एसडीएमए की ओर से निर्धारित सीमा, जो भी कम हो, के साथ तय खुले स्थानों पर सामान्य कोविड प्रतिबंधों संग प्रचार के लिए वीडियो वैन की अनुमति दी है। इसके चलते यातायात के सुचारु प्रवाह में कोई बाधा नहीं आनी चाहिए।

Continue Reading

राजनीति

कैराना में शाह ने घर-घर में भाजपा के लिए मांगे वोट, बोले, ‘पलायन कराने वाले खुद पलायन कर गए’

Published

on

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के पहले और दूसरे चरण के लिए गृहमंत्री अमित शाह ने भाजपा के लिए वोट मांगे। शनिवार वह कैराना पहुंचे अमित ने घर-घर पर्चे बांटे। इस दौरान भाजपा के समर्थक भी मौजूद थे। शाह ने कहा कि योगी सरकार की वजह से हमें पलायन कराने वाले लोग पलायन कर गए।

गृह मंत्री के साथ पार्टी कार्यकर्ता मौजूद रहे। इस दौरान उन्होंने मीडिया से बात करते हुए अमित शाह ने कहा कि आज पश्चिम यूपी के कैराना से भारतीय जनता का पर्चा बांटकर यहां से प्रत्याशी मृगांका सिंह के लिए वोट मांगा। कैराना में आज का माहौल देखकर मुझे बड़ी शांति मिलती है। पूरे प्रदेश में विकास की एक नई लहर दिखाई देती है। मोदी जी ने जो सारी योजनाएं भेजी हैं उसे योगी जी ने नीचे तक लागू किया है। पहले कैराना में लोग पलायन करते थे। आज लोगों ने कहा कि आज मैं पलायन करने वाले मित्तल परिवार के साथ बैठा था। उन्होंने कहा कि अब हमें कोई भय नहीं है।

इस दौरान उन्होंने लोगों को सरकार के किए कामों के बारे में भी बताया।

उन्होंने कहा, यूपी में विकास की उत्साह दिख रही है। विकास की प्राथमिक जरूरत कानून व्यवस्था का ठीक होना है। मैं राज्य के लोगों को कहूंगा कि अगर राज्य में कानून व्यवस्था बनाए रखना है, तुष्टीकरण और एक जाति के लिए काम करने वाली सरकारों की प्रथाओं को खत्म करना है तो भाजपा को विजयी बनाएं।

कहा कि 2014 में नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार बनने व 2017 में प्रदेश में योगी के नेतृत्व में सरकार बनने पर समग्र विकास हुआ है। एयरपोर्ट, एक्सप्रेस वे, मेडिकल कालेज समेत तमाम योजनाएं उत्तर प्रदेश व देश में प्रभावी ढंग से लागू हुईं। विकास के साथ ही प्रदेश में कानून व्यवस्था बेहतर हुई है। आज मैं कैराना में पलायन पीड़ित मित्तल परिवार के साथ बैठा, परिवार के 11 लोग मौजूद रहे। यह सभी पहले पलायन कर गए थे और अब यहां दोबारा आकर सुरक्षित माहौल में अपना व्यापार कर रहे हैं। कहा कि इस बार प्रदेश में भाजपा 300 पार जाएगी।

पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ गृहमंत्री शाह ने जैसे ही डोर-टू-डोर कार्यक्रम की शुरूआत की तो समर्थकों के जयश्रीराम और योगी-मोदी जिंदाबाद के नारों से वातावरण भाजपा मय हो गया। रिमझिम बारिश के बीच भारी भरकम समर्थकों के साथ कैराना पहुंचे अमित शाह ने जनता से भाजपा को जिताने की अपील की।

Continue Reading

राजनीति

मोदी सरकार जन अधिकार खत्म करने की कोशिश में : राहुल गांधी

Published

on

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने जन अधिकारों को लेकर बीजेपी पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार शुरू से जन अधिकारों को खत्म करने की कोशिश करती आ रही है।

राहुल गांधी ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोलते हुए ट्विट कर कहा, जन अधिकारों के बिना दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र का क्या मतलब? मोदी सरकार शुरू से जन अधिकारों को खत्म करने की कोशिश करती आ रही है। मौलिक अधिकारों समेत क्या इन अधिकारों के बिना आप भारत की कल्पना तक कर सकते हैं?

उन्होंने कुछ अधिकारों को गिनाते हुए कहा, भोजन का अधिकार- ताकि किसी को भूख का सामना ना करना पड़े। शिक्षा का अधिकार- आज बच्चा-बच्चा स्कूल जाता है, एक बेहतर कल बनाता है। अपने लिए और देश के लिए। रोजगार का अधिकार- भाजपा के कट्टर विरोध के बावजूद यूपीए ने जनता को रोजगार की सुरक्षा दी। कोविड के मुश्किल समय में भी इससे देशवासियों को सहारा मिला।

राहुल गांधी ने कहा, जानकारी का अधिकार- लोकतंत्र का दूसरा नाम पारदर्शिता है। जनता को सवाल करने और जवाब पाने का अधिकार है। आरटीआई भी यूपीए ने दिया। इनमें से किस अधिकार से पीएम को आपत्ति है? और क्यों?

एक दिन पहले ही शुक्रवार को उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के मद्देनजर कांग्रेस युवाओं के लिए अलग घोषणपत्र ‘भर्ती विधान’ जारी किया। इस मौके पर राहुल गांधी ने कहा हिंदुस्तान को जो मोदी सरकार ने विजन दिया था आज वो फेल हो गया है, हिंदुस्तान को विजन कांग्रेस पार्टी ही दे सकती है बीजेपी का विजन देश का विजन नहीं हो सकता। भारत में एक नई विजन के तहत काम करने की जरूरत है, उत्तरप्रदेश इसका इंतजार कर रहा है।

राहुल गांधी ने कहा युपी में पिछले 5 सालों में 16 लाख युवाओं ने रोजगार खोया है। हर दिन 880 युवा रोजगार खो रहे हैं।

Continue Reading
Advertisement
राजनीति1 day ago

चुनाव आयोग ने शारीरिक रैलियों, रोड शो पर रोक 31 जनवरी तक बढ़ाई

अपराध1 day ago

मुंबई पुलिस ने ड्रग तस्करी मामले में नाइजीरियाई नागरिक को किया गिरफ्तार

राजनीति1 day ago

कैराना में शाह ने घर-घर में भाजपा के लिए मांगे वोट, बोले, ‘पलायन कराने वाले खुद पलायन कर गए’

अंतरराष्ट्रीय1 day ago

टीम इंडिया को यह पता लगाने की जरूरत है कि कौन से स्पिनर उन्हें विकेट दिलाएंगे : हरभजन

बॉलीवुड1 day ago

गायिका लता मंगेशकर की हालत में सुधार

अपराध1 day ago

जम्मू-कश्मीर के शोपियां में मुठभेड़, 1 आतंकी ढेर

राजनीति1 day ago

मोदी सरकार जन अधिकार खत्म करने की कोशिश में : राहुल गांधी

अंतरराष्ट्रीय1 day ago

बिटकॉइन क्रैश के रूप में वैश्विक क्रिप्टो बाजार को 1 ट्रिलियन का नुकसान हुआ

बॉलीवुड1 day ago

अपने जन्मदिन पर सामाजिक मुद्दों पर लाइव इंस्टाग्राम सत्र आयोजित करेंगी श्रुति हासन

अंतरराष्ट्रीय1 day ago

ऑस्ट्रेलियन ओपन : मेदवेदेव ने जीत के बाद चौथे दौर में किया प्रवेश

uddhav
महाराष्ट्र3 weeks ago

बीएमसी चुनाव के मद्देनजर ठाकरे सरकार ने लिया बड़ा फैसला, अब 500 स्क्वायर फुट वाले घरों का प्रॉपर्टी टैक्स होगा माफ

School-Child
राजनीति3 weeks ago

कोरोना के बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर मुंबई में 31 जनवरी तक स्कूल फिर से बंद, सिर्फ 10वीं और 12वीं की चलेगी कक्षाएं

महाराष्ट्र2 weeks ago

पांच राज्यों में चुनाव तारीखों की घोषणा, यूपी में सात चरणों में मतदान, 10 मार्च को वोटों की गिनती

सामान्य4 weeks ago

मुंबई में प्रतिबंधों के बीच कोरोना विस्फोट, एक दिन में आए 2510 नये केस

महाराष्ट्र3 weeks ago

महाराष्ट्र में तीसरी लहर से 80,000 मौतों की चेतावनी

महाराष्ट्र2 weeks ago

सोमवार से लागू होगी सख्त गाइडलाइन्स, मुंबई में कोरोना के नये मामले लगातार तीसरे दिन भी 20 हजार के पार

राजनीति1 week ago

यूपी विधानसभा 2022: AIMIM ने जारी की पहली सूची

अपराध2 weeks ago

जावेद हबीब मामला: ब्यूटीशियन पूजा ने पुलिस में दर्ज कराया मुकदमा

अपराध3 weeks ago

हिंदू महिलाओं के बारे में अपमानजनक पोस्ट करने पर सरकार ने टेलीग्राम चैनल को किया ब्लॉक

अपराध3 weeks ago

एनसीबी में खत्म हुआ समीर वानखेड़े का कार्यकाल, डीजी-डीआरआई को करेंगे रिपोर्ट

अपराध2 years ago

झोमेटो की महिला ने गाड़ी उठा कर ले जाने पर ट्रैफिक पुलिस को दी गालियां

अपराध2 years ago

मुंबई के भायखला ई वार्ड में स्थित केएसए ग्रांड के 18वें फ्लोर से गिरी लिफ्ट, एक शख्स घायल

बॉलीवुड3 years ago

शाहरूख खान की आने वाली फिल्म जीरो का ट्रेलर इस दिन होगा रिलीज

बॉलीवुड3 years ago

पूर्व मिस यूनिवर्स सुष्मिता सेन का कभी देखा है इतना हॉट लुक

अपराध3 years ago

मुंबई लोकल से गिरी लड़की के खिलाफ आरपीएफ ने दर्ज किया केस

बॉलीवुड3 years ago

तनुश्री दत्ता के आरोपों पर अभिनेता नाना पाटेकर जल्द ही देंगे जवाब

मनोरंजन3 years ago

पीएम नरेंद्र मोदी ने शाहरूख खान को इस वजह से किया सैलूट

बॉलीवुड3 years ago

जानिए आखिर क्यों गोल्डन गर्ल आशा पारेख ने नहीं की शादी

अपराध3 years ago

मुंबई लोकल से गिरी लड़की की पहचान आई सामने, जानिए कौन है वो लड़की

अपराध3 years ago

देखिए मुंबई में हुए एक दर्दनांक हादसे का वीडियो

रुझान